कश्मीर मसले पर आंख दिखाने वाले पाकिस्तान ने चीन के आगे टेके घुटने कहा, चीन की हर बात हमे स्वीकार

भारत देश के पड़ोसी मुस्लिम मुल्क पाकिस्तान को चीन में उइगर मुसलमानों के साथ हो रही क्रूरता से फर्क नही पड़ता। मुसलमानो का हिमायती बनने वाला पाकिस्तान आज चीन की हरकतों पर खामोश खड़ा है। भारत को आंख दिखाने वाला, कश्मीर के मसले पर हो हल्ला करने वाले इमरान ने चीन को क्लीनचिट देते हुए कहा कि चीन जो कहता है सच वही है।

गुरुवार को चीनी पत्रकारों से बातचीत करते हुए इमरान खान ने कहा कि शिनजियांग प्रांत में उइगर मुसलमानों के साथ व्यवहार को लेकर की दलीलें पाकिस्तान को मंजूर है। इमरान ने आगे कहा, ”चीन के साथ हमारे बेहद मजबूत और करीबी रिश्ते की वजह से हम चीन की बात को स्वीकार करते हैं।”

फिर उठाया कश्मीर का मुद्दा
इमरान खान ने चीन में हो रहे उइगर मुसलमानों के साथ क्रूरता पर आंख मूंदते हुए इमरान ने फिर शुरू किया कश्मीर का रोना कहा, उइगर और हॉन्ग-कॉन्ग के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया जाता है और कश्मीर में मानवाधिकार के उल्लंघन पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इमरान ने कहा, ”यह पाखंड है। दुनिया के दूसरे हिस्सों जैसे कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन हो रहे हैं।

लेकिन पश्चिमी मीडिया मुश्किल से ही इस पर कुछ बोलती है।” इमरान खान ने मीडिया से बातचीत करते हुए चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की जमकर तारीफ की और इसे पश्चिमी देशों के लोकतंत्र का विकल्प बताया। उन्होंने कहा, ”अब तक हमें बताया जाता रहा है कि समाज के ऊपर उठने के लिए सबसे अच्छा रास्ता पश्चिमी लोकतंत्र है, लेकिन सीपीसी ने एक वैकल्पिक मॉडल दिया है और उन्होंने सभी पश्चिमी लोकतंत्रों को हरा दिया है।”

इसके साथ ही पाकिस्तान की तरफ से कहा गया है की वह कश्मीर के विभाजन और उसकी जनसांख्यिकी बदलने के भारत के किसी भी कदम का विरोध करेगा। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि भारत को पांच अगस्त 2019 की कार्रवाई के बाद कश्मीर में कोई और अवैध कदम उठाने से बचना चाहिए। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending