पाकिस्तान हुआ बेनकाब: यति नरसिंहानंद को मारने का रचा षड्यंत्र, साधु के भेष में भारत आए आतंकी, पाकिस्तान से जुड़े मिले तार

गाजियाबाद के डासना देवी मंदिर के महंत नरसिंहानंद सरस्वती की हत्या की साजिश का सामने आया सच। दिल्ली पुलिस ने महंत नरसिंहानंद सरस्वती जी की हत्या के साजिशकर्ता कश्मीरी युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान जॉन मोहम्मद डार उर्फ जहांगीर के रूप में हुई है। आरोपी के तार भारत से बाहर देश पकिस्तान से जुड़े है। महंत नरसिंहानंद सरस्वती जी की हत्या का कॉन्ट्रैक्ट पाकिस्तान में बैठे जैश के एक आतंकी ने दिया था। महंत जी की हत्या के साजिशकर्ता जहांगीर ने एक साधु का रूप धारण किया हुआ था। पुलिस ने आरोपी जहांगीर के साप से पिस्टल औऱ मैगजीन बरामद की हैं।

पुलिस के मुताबिक, जॉन मोहम्मद डार उर्फ जहांगीर पेशे से कारपेंटर है, उसे पाकिस्तान में बैठे आबिद नाम के आतंकी ने हत्या की सुपारी दी थी। जहांगीर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में जैश ए मोहम्मद के आंतकी आबिद से मिला था। जहांगीर Whats App के जरिए आबिद के संपर्क में रहता था। आबिद ने जहांगीर को महंत नरसिंहानंद सरस्वती का वीडियो दिखा कर उनकी हत्या के लिए उकसाया था। इतना ही नही इस काम के लिए आबिद ने जहांगीर को हथियार चलाने की ट्रेनिंग भी थी। आबिद ने जहांगीर को इस काम के लिए पैसे देने का वायदा भी किया था। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending