बांग्लादेश में एक बार नफरत का शिकार बने हिंदू मंदिर, अष्टमी के दिन पंडालों में हुई तोड़फोड़, पीएम शेख हसीना ने दिया कार्रवाई का आश्वासन

बांग्लादेश में लगातार हिंदू मंदिरों और दुर्गा पूजा समारोह के दौरान हो रही हिंसा पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने तीखा हमला बोला है। शेख हसीना ने उपद्रवियों को चरमपंथियों को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि जो कोई भी इस हमले में शामिल है, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने आगे कहा की सांप्रदायिक दंगों को रोकने के लिए उचित दंड दिया जाएगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे किस धर्म के लोग थे।

बता दें शेख हसीना ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के सहारे ढाका में ढाकेश्वरी नेशनल टेंपल में हुए इवेंट को अटेंड किया था। इसी दौरान उन्होंने ये बात कही। इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा की कोमिल्ला जिले में हुई घटना की जांच की जा रही है। हिंदू मंदिरों में और दुर्गा पूजा के पंडालों में जिसने भी हमला किया है, उनमें से किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि इन उपद्रवियों का धर्म कौन सा था। इन हमलों के पीछे वही लोग हैं जो जनता का भरोसा जीतने में नाकाम रहे हैं।

बता दें दो दिन पहले ही बांग्लादेश में अष्टमी के दिन बांग्लादेश के कोमिल्ला जिले में दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ हुई। इसके बाद चांदपुर के हबीबगंज, चटगांव के बांसखाली, कॉक्स बाजार के पेकुआ और शिवगंज के चापाईनवाबगंज समेत कई इलाकों में हिंसा भड़क उठी और पंडालों में तोड़फोड़ की गई। इस हिंसा में तीन लोगों के मारे जाने की भी खबर है।

वहीं इस मामले में बांग्लादेश के गृहमंत्री असदुज्जमान खान ने कहा कि कोमिल्ला जिले में जिन लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है, उन्हें जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि इस मामले में जल्द से जल्द न्याय किया जाए।

इस मामले में बांग्लादेश हिंदू यूनिटी काउंसिल ने भी ट्वीट कर लिखा था कि, 13 अक्टूबर 2021 बांग्लादेश के इतिहास में एक निंदनीय दिन था। अष्टमी के दिन मूर्ति विसर्जन के मौके पर कई पूजा मंडपों में तोड़फोड़ की गई। हिंदू अब पूजा मंडपों की रखवाली कर रहे हैं। आज पूरी दुनिया चुप है। मां दुर्गा अपना आशीर्वाद दुनिया के सभी हिंदुओं पर बनाए रखें।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending