परमहंस के जल समाधि पर पुलिस ने ‘फेरा पानी’, मनाने नहीं पहुंचा कोई भी जनप्रतिनिधि या संत

तपस्वी छावनी के बाबा परमहंस का देश को हिन्दू राष्ट्र घोषित न होने पर सरयू जी में जल समाधि लेने वाला कार्यक्रम शनिवार को उस वक्त तमाशे में बदल गया। जब उन्हें मनाने कोई भी जनप्रतिनिधि व संत नहीं पहुंचा। इस दौरान भारी संख्या में पहुंची पुलिस ने उन्हें हाउस अरेस्ट करके उनके सारे प्रोग्राम पर पानी फेर दिया।

कार्यक्रम स्थगित होने के बाद बाबा ने कहा कि हमारे लिए अब हर दिन 2 अक्टूबर है। हमेशा अखबार की सुर्खियों में बने रहने के शौकीन बाबा परमहंस ने कई दिन पहले ही घोषणा कर दी थी कि अगर देश को हिंदू राष्ट्र न घोषित किया गया तो वह 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के दिन 12 बजे जल समाधि ले लेंगे। परमहंस की घोषणा के बाद प्रशासन कल ही सतर्क हो गया था और शनिवार की सुबह ही तपस्वी छावनी पहुंचकर उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया।

दरअसल परमहंस को मनाने के लिए जिले का कोई भी जनप्रतिनिधि व संत-महात्मा मौके पर नहीं पहुंचा। साथ ही उनका पूरा कार्यक्रम उपहास का पात्र बन गया। गौरतलब है कि परमहंस ने देश को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग की थी और कहा था सभी मठ-मंदिरों के बिजली बिल माफ किए जाए। इसके अलावा संतों को महीने में पैसे भी दिए जाएं।सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल हुए परमहंस बाबा परमहंस की सरयू में जल समाधि लेने की चेतावनी वाले कार्यक्रम को पुलिस ने फुस्स कर दिया।

इसके पहले से ही सोशल मीडिया पर परमहंस खूब ट्रोल हुए। लोगों ने फेसबुक, इंस्टाग्राम व ट्विटर पर तरह-तरह की बातें लिख खूब लताड़ा।वहीं, अयोध्या सीओ अजय कुमार राय ने कहा कि बाबा परमहंस अभी तपस्वी छावनी में ही हैं। छावनी के बाहर पुलिस बल तैनात है। उनसे वार्ता चल रही है, अभी उन्हें मनाने की कोशिश चल रही है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending