बीजेपी और शिवसेना के दुबारा हाथ मिलाने के सवाल पर उद्धव ठाकरे ने दिया ऐसा रिएक्शन…

हाल ही में शिवसेना सांसद संजय राउत और भारतीय जनता पार्टी के विधायक आशीष शेलार के बीच भी बीते शनिवार एक सीक्रेट मीटिंग हुई है। जिसके बाद से फिर बीजेपी और शिवसेना के बीच समझौते होने के कयास लगाए जाने लगे। हालांकि इससे पहले भी सत्ताधारी शिवसेना और विपक्षी बीजेपी के कई नेताओं के बीच हुई गुप्त बैठकें हुई हैं। लेकिन इस बार हुई बैठक ने महाराष्ट्र में सत्ता परिवरर्तन की अटकलों को हवा दी।

शिवसेना-भाजपा के एक साथ आने की अटकलों पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जवाब देते हुए कहा की, ” हम पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाया जा रहा है। इसे काला दिवस कहा जा रहा है, लेकिन क्या केंद्र लोकतंत्र को सफेद करता है जब वे दबाव बनाने की कोशिश में जांच एजेंसियों का इस्तेमाल करते हैं।”

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बीजेपी और शिवसेना के दुबारा साथ आने की संभावना को इनकार करते हुए कहा कि मैं अभी भी अजित पवार और बालासाहेब थोराट के साथ बैठा हूं। मैं कहीं नहीं जा रहा। बता दें की इससे पहले भाजपा और शिवसेना के फिर से एक साथ आने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा था, ”राजनीति में कोई ‘किंतु परंतु’ नहीं होता है। परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लिए जाते हैं।” 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा था, ”भाजपा और शिवसेना दुश्मन नहीं हैं, हालांकि मतभेद हैं। स्थिति के अनुसार उचित निर्णय लिया जाएगा।” उन्होंने आगे शिवसेना पर आराेप लगाते हुआ कहा था की, ”हमारे दोस्त ने हमारे साथ 2019 का विधानसभा चुनाव लड़ा। लेकिन चुनाव के बाद शिवसेना ने उन्हीं लोगों से हाथ मिला लिया जिनके खिलाफ हमने चुनाव लड़ा था।”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending