OMG: भारत की इन जगहों पर भूलकर भी ना निकलें रात को बाहर, रहते हैं भूत

बहुत से लोग ऐसे होते है जो भूत प्रेत पर यकीन नही करते वह अक्सर उसे पागल कहते है जो भूतों पर यकीन करते है। आप भूतों पर विश्वास करते हों या ना करते हों, लेकिन हम यहां आपको भारत की कई ऐसी जगहों के बारे बताने जा रहे हैं जहां जाकर आपको भूतों की मौजूदगी का एहसास होगा। 
आइए जानते है भारत की कौन कौन सी जगहो पर रहते है भूत….

जतिंगा घाटी, असम
असम के जतिंगा घाटी में हर साल सितम्‍बर के महीने में अमावस रात को यहां भारी संख्‍या में पक्षी आत्महत्या करते है, कहते हैं यहां सितंबर से अक्टूबर के महीने में दुष्ट शक्तियां अपना कब्जा कर लेती है जिसके कारण पक्षी खुदखुशी कर लेते हैं। हालांकि इन पक्षियों के आत्महत्या करने के पीछे क्‍या कारण है, इस बात का खुलासा आज तक वैज्ञानिकों के दृष्टिकोण में नही हो पाया है। मगर पक्षियों के आत्महत्या का सिलसिला आज तक जारी है।

अग्रसेन का बाबली, दिल्‍ली 
यह एक भयानक बाबली है। पौराणिक कथाओं में भी इसका वर्णन है। कहा जाता है कि जब इसमें काला पानी भर जाता है तो यह लोगों को इसमें मरने के लिए मोहित करती है। यहां तक कि आज भी यहां लोग सूर्यास्‍त के बाद नहीं आते हैं।

भानगढ़ किला, राजस्‍थान
ऐसा कहा जाता है कि पुराने ज़माने में एक तांत्रिक ने इस महल पर काला जादू कर दिया था और तब से भानगढ़ किला, भूतिया किला हो गया। सूर्यास्‍त के बाद इस किले में लोगों का प्रवेश वर्जित है। इस किले के आसपास बने घरों की छतें नहीं रहती हैं। अगर उन छतों को बनवा दिया जाएं, तो अपने आप चटक कर टूट जाती हैं। 

शनिवारवाड़ा किला, पुणे
यहां किला, महाराष्‍ट्र का सबसे बड़ा किला है जिसकी दीवारें, रहस्‍यमयी गाथाओं से भरी हुई है। कहा जाता है कि एक युवा राजकुमार को उसके ही रिश्‍तेदारों के द्वारा दीवारों के अंदर पटक कर मार डाला गया था। तब से आज तक राजकुमार की आत्‍मा वहां हर पूर्णिमा को मौत का बदला लेने आती है। इस डर से इस किले में कोई भी सूर्यास्‍त के बाद नहीं जाता है।

जीपी ब्‍लॉक, मेरठ

हर कोई यहां के बारे में जानता है। इस इलाके में एक दो मंजिला इमारत है, जिसमें कई प्रेत-आत्‍माएं रहती हैं। इस इमारत में अक्‍सर चार लोगों को बैठकर ड्रिंक करते हुए देखा जा सकता है। यहां के स्‍थानीय लोगों को अक्‍सर ये नज़ारा देखने को मिलता है। कई बार लोगों ने ये भी देखा है कि लाल ड्रेस में कोई लड़की भी घर से बाहर निकलती है।
 राष्‍ट्रीय पुस्‍तकालय, कोलकाता

राष्‍ट्रीय पुस्‍तकालय, कोलकाता में कई प्रकार की रहस्‍यमयी घटनाओं के बारे में सुनने को मिलता है। जो गार्ड यहां रात में ड्यूटी करते हैं, वह आपको कई प्रकार की ऐसी घटनाएं सुना सकते हैं। जिन मजदूरों की मौत यहां पुस्‍तकालय में हुई थी, उनके भूत इसी पुस्‍तकालय में रहते हैं। काफी समय पहले, एक छात्र इस पुस्‍तकालय में गया और फिर वहां से कभी वापस नहीं आया। कई लोग कहते हैं कि सुबह जब लाइब्रेरी खोली गई तो हर दिन के मुकाबले काफी पेपर और सामान बिखरा हुआ पड़ा हुआ था।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending