हिमाचल प्रदेश में अब बिना कोविड रिर्पोट और वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के NO-ENTRY, आज से लागू नए नियम

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने राज्य में एंट्री करने के लिए वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र अनिवार्य कर दिया है। दरअसल, हिमाचल प्रदेश ने इस हफ्ते की शुरुआत में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) की अध्यक्षता में एक कैबिनेट बैठक के बाद राज्य में प्रवेश करने वाले यात्रियों के लिए पूर्ण वैक्सीनेशन या एक निगेटिव कोविड -19 रिपोर्ट अनिवार्य करने का फैसला लिया है।

जारी आधिकारिक आदेश के अनुसार, रैपिड एंटीजन टेस्ट (rapid antigen test) रिपोर्ट 24 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होना चाहिए। जो पर्यटक राज्य में घूमना चाहते है, उन्हें राज्य और जिले की सीमा पर पूर्ण वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र (वैक्सीन की दोनों खुराक लेने का) या अधिकतम 72 घंटे के भीतर आरटी-पीसीआर जांच में संक्रमण मुक्त होने का प्रमाण पत्र दिखाने पर ही एंट्री दी जाएगी।

इस बैठक के बाद मुख्य सचिव ने कहा कि राज्य में कोरोनावायरस महामारी की स्थिति की समीक्षा की गई है और यह देखा गया है कि राज्य में एक्टिव कोविड -19 मामलों की संख्या और पॉजिटव रेट अभी भी बढ़ रही है। सिंह ने स्थिति को काफी “अनिश्चित” बताया।

बता दें हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट (Himachal Pradesh High Court) ने गुरुवार को प्रदेश सरकार से ऊना जिले में ‘माँ चिंतपूर्णी सावन मेला’ आयोजित करने के अपने फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए कहा, क्योंकि भक्त बड़ी संख्या में मेले में जा सकते हैं, जिससे कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो सकती हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending