अब नही मंडराएगा कोरोना का खतरा, जानिए भांप लेने का उचित तरीका

कोरोना वायरस ने अपना भयावह रूप दिखाना शुरू कर दिया है देश भर रोज हजारों की तादाद में लोग अपनी जान गंवा रहे है कोरोना मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है ऐसे में बहुत से डॉक्टर्स, वैज्ञानिक और डब्लूएचओ (World Health Organization) जैसी बड़ी संस्था ने यह दावा कर किया है की कोरोना संक्रमण को रोकने में भांप काफी हद तक कारगार साबित है। वैज्ञानिकों ने शुरु से ही स्टीम को फायदेमंद (Steaming benefits) बताया है। वहीं ताजे अध्ययन में यह बात साबित भी हो चुकी है कि रोजाना दो से तीन बार पांच मिनट तक भाप लेने से (Steaming 2 to 3 times daily for 5 minutes) कोरोना (coronavirus infection) का फेफड़ों पर असर नहीं होगा। ऐसे में हर कोई भांप लेने की नसीहत देता दिखाई देता है मगर अब तक किसी ने भी भांप लेने का सही तरीका नही बताया है तो आज हम आपको बताएंगे भांप लेने का उचित तरीका।

जानिए क्या है भांप लेने का उचित तरीका:
1. अधिकांश लोग बैठ कर भांप लेते है जो गलत तरीका है। अधिकतर फोटोग्राफ भाप लेने के लिए सिर पर तौलिया के साथ एक मुड़ी हुई पीठ दिखाते हैं। यह भाप आपके चेहरे पर असर करेगी, आपके फेफड़ों पर नहीं। इसलिए बैठ कर कभी भांप ना लें। अब आप सीधे खड़े हो जाइए, ध्यान रहे पीठ झुके और मुड़े नही फेफड़े नहीं, अब स्टीमर की ऊँचाई को समायोजित करें!
2. अब भाप को अपने अंदर लेने के लिए अपने नाक और मुंह का इस्तेमाल करें व सीधा समायोजित करें। भांप से थोड़ी दूरी बनाना भी काफी जरूरी है जिससे की वह कोई नुकसान भी ना पहुंचा पाए।
3. अब 1 से 10 बार तक भांप साँस लेते रहें, यह पूरा प्रकरण सामान्य गति से ही करें और सांस अंदर बाहर करते रहें । इसके साथ ही भांप के तापमान को भी समायोजित करते रहें।
4. अगली 5 साँसें, मुँह के माध्यम से लें ध्यान रहें की यह गहरी होनी चाहिए, अधिकतम से आधिकतम क्षमता तक। इसके साथ ही यह भी ध्यान रखें कि आपके द्वारा ली गई भांप आपके फेफड़ों तक महसूस हो।

3. अब कुछ मिनट तक सांस रोककर रखें और नाक से सुचारू रूप से साँस छोड़ें। (एक दम झटके में नहीं)
5. नासिका के माध्यम से अगले 10 मिनट तक अनुलोम विलोम (anulom vilom) यानि एक नथुने को बंद करें और दूसरे से सांस अंदर लें, यह पूरा क्रम धीरे-धीरे आराम से करें। 
6. अब मुंह से सांस ना लेकर नाक के माध्यम से लें।
7. यह पूरा क्रम कम से कम 10 मिनट तक करते रहें।
8. इस पूरी प्रक्रिया के दौरान आप अपने पंखे और एसी (air conditioner) को बंद कर दें।
9. भाप के बाद अगर संभव हो तो कुछ समय के लिए लेट जाएं। 
10. भांप की प्रक्रिया करने के बाद अंतिम चरण में यह ध्यान जरूर रखिएगा भाप के कारण वायुमार्ग ( मुंह के अंदर) में जो भी स्रावित होते हैं, उसे बिल्कुल ना निगले। उसे रूमाल या फिर कहीं बाहर थूंक दे।

भांप ना लें अगर –
अगर आपको भाप लेने में असुविधा या जलन हो रही है तो तुरंत वहां से हट जाएं।

बच्चें, गर्भवती या अस्थमा के रोगी भाप लेते समय ज्यादा सावधानी बरतें।

यह वायरस को कमजोर करता है। इस स्टीम(भांप) को कोरोना संक्रमित या स्वस्थ (healthy lungs) दोनों तरह के लोग इस्तेमाल कर सकते हैं। हमारी आपसे विनती है, कि भले ही यह समय नाजुक है लेकिन हमें पैनिक नहीं होना है। स्थिति का सामना हिम्मत और सकारात्मक सोच के साथ करें। याद रखिए लोग ठीक हो रहे हैं और सब ठीक हो जाएगा, इसीलिए घबराएं नहीं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending