घर के अंदर भूलकर भी कभी ना लगाएं ये पेड़ पौधे, हो सकता है भारी नुकसान

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के आंगन में कुछ खास पेड़ों को कभी नहीं लगाना चाहिए। इससे घर में लक्ष्मी कभी नहीं टिकती। इनमें से कुछ वृक्ष तो ऐसे हैं भी होते हैं जिन पर भूतों का साया रहता है। अगर आपके घर में भी कुछ ऐसे ही पेड़-पौधे लगे हैं तो आप भी सावधान हो जाएं और ऐसे पौधों को घर से बाहर कहीं दूर स्थान पर लगा दें। तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही पौधों के बारे में जो घर में लगाने से वास्तु दोष उत्पन्न करते हैं और घर की बर्बादी का कारण बनते हैं।

• वास्तुशास्त्र के अनुसार घर की पूर्व दिशा में कभी फलदार पेड़ नहीं लगाना चाहिए। कहा जाता है कि इससे संतति की हानी होती है।
• घर में कभी भी केला, नींबू और कगम्भ का पेड़ ना लगायें। क्योंकी वास्तुशास्त्र के अनुसार जिस घर में ये पेड़ होते हैं उसका मालिक कभी भी विकास नहीं करता है।
• अपने घर के आसपास पीपल, गूलर, आम, नीम, बहेड़ा या कोई भी कांटेदार पेड़ जैसे इमली ये सभी पेड़ नहीं लगाना चाहिए। घर से कुछ दूरी पर आप पीपल, आम और नीम लगा सकते हैं।
• वास्तुशास्त्र के अनुसार घर की पश्चिम दिशा में लगे कांटेदार वृक्ष से शत्रु का भय सतातात है और दक्षिण में दूधवाले पेड़ लगाने से धन हानि झेलनी पड़ती है।
• पलाश, जवाकुसुम, बरगद, लाल गुलाब जैसे फूल अशुभ एवं कष्टदायक होते हैं। इस मे लाल फूलों के वृक्षों व लताएं तथा कांटे वाले वृक्ष अनिष्टकारक एवं मृत्युकारक माने गए हैं।
• वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में पीपल, अग्निकोण में दुग्धदार पेड़, दक्षिण में निम्ब, नैऋत्य में कदम्ब, पश्‍चिम में कांटेदार वृक्ष, उत्तर में गूलर, केला, और ईशानकोण में कदली ये पेड़ नहीं लगाना चाहिए। 
इन पेड़ पौधों को भूलकर भी ना लगाएं घर के अंदर, जानिए वजह
कांटेदार पौधे- कई लोगों को कैक्‍टस प्‍लांट खासा पसंद होता है। जबकि वास्‍तु के अनुसार घर में कभी भी कांटेदार पौधे नहीं लगाने चाहिए। ऐसे पौधे घर के सदस्‍यों के बीच तनाव (Stress) और झगड़े-विवाद का कारण बनते हैं।
दूध वाले पौधे- ऐसे पौधे जिनकी टहनियों को या पत्‍तों को बीच से तोड़ने पर दूध निकलता हो उन्हें कभी भी अपने घर के अंदर या बाहर नहीं लगाना चाहिए ऐसा करने से घर के सदस्‍यों की सेहत (Health) पर बुरा असर पड़ता है।
आम-जामुन, इमली भी न लगाएं- वास्‍तु शास्‍त्र के अनुसार घर में आम, जामुन, बबूल, केले पेड़ भी घर पर नहीं लगाना चाहिए। इमली का पेड़ घर में लगाने तरक्की में रुकावटें आ सकती हैं। इसके साथ ही परिवार के सदस्य बीमारी की चपेट में भी आ सकते हैं।
नागफनी का पौधा- वास्तु शास्त्र के अनुसार नागफनी का पौधा जिस घर में होता है तो उस घर में झगड़े आदि अशांति, दुर्घटनाएं, बच्चे बीमार जैसी समस्याएं अकसर होती रहती हैं। ऐसे में घर की तरक्की भी रूक जाती है। 
खजूर का पेड़- कुछ लोग अपने घर में सजावटी पेड़ के रूप में खजूर का पेड़ लगा लेते हैं लेकिन खजूर के पेड़ कभी को घर के अंदर नहीं लगाना चाहिए। माना जाता है कि इसको घर में लगाने से आर्थिक तंगी होने लगती है साथ ही परिवार के सदस्यों की तरक्की भी रुक जाती है।
मदार का पौधा- कुछ लोगों के घर में मदार का पौधा लगा होता है लेकिन वास्तु के अनुसार इसे घर में नहीं लगाना चाहिए क्योंकि वास्तु में ऐसा माना जाता है कि जिन पौधों से दूध जैसा पदार्थ निकलता है वे पौधे नकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाते हैं।
बेर का पेड़- बेर का पेड़ घर में लगाने से भूतों का आभास होता है। क्योंकि वास्तव में बेर के पेड़ पर नाकारात्मकता का साया माना जाता है। जिसके चलते घर में कई ऐसी दुर्घटनाएं होती रहती हैं जिसकी आपको खबर तक नहीं पड़ती है। इसी के साथ ही घर में धन की बचत भी नहीं हो पाती है। इसलिए आप इस पेड़ को घर से कहीं बाहर लगा दें।
इमली का पेड़- इसे घर में लगाना अशुभ माना जाता है। इसके साथ ही इसे नाकारात्मकता का प्रतीक भी माना जाता है। इसे घर के आंगन में लगाने से गरीबी आती है। इमली का पेड़ बुरी शक्तियों को भी आकर्षित करता है। इसीलिए इस पर भूत-प्रेतों का साया माना जाता है। उनके प्रभाव से घर की तरक्की रूक जाती है। आज के समय में भी इमली के पेड़ के आपपास आपको भूत-प्रेत दिखाई दे सकते हैं। 

शास्त्रों के अनुसार भी इन पेड़-पौधों को घर में लगाने से घर में सबसे बड़ी तबाही आती है। वहीं ये पौधे ऐसे होते हैं जिनके कारण किसी ऐसे घर में माता लक्ष्मी भी अपना वास नहीं करती, बल्कि वहां से उलटे पांव वापस चली जाती हैं। अगर आपके घर में भी कुछ ऐसे ही पेड़-पौधे हो तो आप जितना जल्दी हो सके उन पौधों को घर से बाहर लगा दें। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending