सुखबीर सिंह बादल पर बरसी नवजोत कौर कहा, हम लोग इज्जत से कमाई रोटी खाते हैं

नवजोत सिद्धू द्वारा बिजली संकट पर कैप्टन अमरिंदर सिंह को सलाह देने के दौरान यह खुलासा हुआ था की कांग्रेस नेता नवजोत सिद्धू ने अभी तक अपने 9 महीने का बिल नही चुकाया है। उनका अपना लाखों का बिजली बिल पेंडिंग है। इस खुलासे के बाद सिद्धू की जमकर आलोचनाएं हो रही है सोशल मीडिया पर भी वह ट्रोल्स के निशाने पर आ चुके है। ऐसे में शनिवार को उनकी पत्नी और पूर्व विधायक नवजोत कौर सिद्धू मैदान में उतरीं और सभी सवालों का जवाब दिया। 

दरअसल, नवजोत सिंह सिद्धू ने शिरोमणि अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी की पूर्ववर्ती सरकार के दौरान किए गए बिजली खरीद समझौते को रद्द करने के लिए नया कानून लाने का शुक्रवार को आग्रह किया। सिद्धू ने कहा कि अगर राज्य सही दिशा में काम करता है, तो पंजाब में बिजली कटौती या कार्यालय के समय को विनियमित करने की कोई आवश्यकता नहीं होगी।

आलोचनाओं के बीच नवजोत कौर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर कर अपने पति पर लग रहे आरोपों के बारे में सफाई देते हुए कौर ने कहा की, हमने हद से ज्यादा बिल आने के कारण पावरकॉम में जांच के लिए अपील डाली थी। जांच के बाद जो बिल बनेगा, उसे भरा जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल पर भी हमला बोलते हुए कहा, सुखबीर सिंह बादल व अन्य ने अपने इलाज और यहां तक कि प्राइवेट प्रोग्राम भी सरकारी खर्चे पर ही किए हैं, इसलिए वह उनके बिजली बिल की फिक्र छोडकर अपनी तरफ झांकें।

नवजोत कौर ने आगे कहा, उनके पति नवजोत सिंह इज्जत से कमाई रोटी खाते हैं और तनख्वाह से ही गुजारा करते हैं। सिद्धू हमेशा बिल अपनी जेब से ही भरते हैं, उनकी तरह सरकार के खाते में नहीं डाला जाता है। यहां तक कि बीमारी का इलाज व कहीं घूमने जाना हो, उसका खर्च भी अपनी जेब से करते हैं। नवजोत कौर ने बताया कि कोरोना काल में जरूरतमंदों को राशन आदि सिद्धू परिवार की ओर से जेब से पैसे खर्च करके दिया गया। साथ ही शहीद ऊधम सिंह के पैतृक घर का बिजली बिल भरा गया और अमृतसर को डेढ़ करोड़ रुपये भी अपनी तरफ से ही दिए गए।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending