10 मिनट के अंतराल में देश के 115 करोड़ हिंदुओं को मोदी ने धोखा- मनीष सिसोदिया

राम जन्मभूमि घोटाले पर आम आदमी पार्टी केन्द्र सरकार पर आरोप लगाती दिख रही है। आम आदमी पार्टी पार्टी (Aam Aadmi Party) के अनुसार, राम मंदिर घोटाले में भारतीय जनता पार्टी भी शामिल है। आप पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सवाल उठाते हुए कहा कि दो करोड़ की जमीन को 10 मिनट के अंतराल में 18 करोड़ में कैसे खरीदा गया? मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि, “2 करोड़ की जमीन को 10 मिनट के अंतराल में 18 करोड़ रुपए में खरीदा गया है। इसके सारे कागजात इस बात की पुष्टि कर रहे हैं। पहले जमीन की कीमत 2 करोड़ थी और महज 10 मिनट में साढ़े 16 करोड़ रुपये कीमत बढ़कर उसको साढ़े 18 करोड़ में खरीदा गया। इसमें सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि दोनो ही डीलों में गवाह कॉमन है। एक नाम रामजन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा का है तो दूसरा नाम अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय का है।”  

मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि, ” इस डील में शामिल 5 लोगों ने 10 मिनट के अंतराल में देश के 115 करोड़ हिंदुओं के साथ धोखा किया गया है। लोगों की राम मंदिर में बड़ी आस्था है। लोग श्रद्धा भाव से इसके लिए दान कर रहे हैं। लोगों के चंदे के पैसे से इस मंदिर का निर्माण होने जा रहा है और लोग बेसब्री से इसका इंतजार कर रहे हैं। हमें जमीन खरीदने से कोई दिक्कत नहीं है, दिक्कत इस खरीद में हुए भ्रष्टाचार से है। “

वहीं अयोध्या में मंदिर ट्रस्ट के नाम पर घोटाले के आरोप पर कांग्रेस प्रवक्ता सुरेन्द्र राजपूत ने कहा कि अयोध्या में विश्वहिंदू परिषद पर कई सौ करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप मंदिर ट्रस्ट के नाम पर पहले भी लगा है उसकी भी कोई सफाई विश्व हिंदू परिषद की तरफ से नहीं आई है। आज जो आरोप विश्व हिंदू परिषद पर लग रहे हैं इसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए सरकार इसकी उच्च स्तरीय जांच कराए अगर ये लूट हुई है तो उन लोगों को साधारण लोगों से ज़्यादा कई गुना ज्यादा सज़ा मिलनी चाहिए।

आप सांसद संजय सिंह ने भी बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के मंत्रियों, नेताओं ने मंदिर निर्माण के लिए चंदा मांगा। अब इस चंदे के पैसे से भ्रष्टाचार किया जा रहा है। इसमें बीजेपी के मेयर भी शामिल है। बीजेपी सामने आकर इस बात का जवाब दे कि लोगों की आस्था के साथ इतना बड़ा खिलवाड़ आखिर क्यों किया जा रहा है? 

BJP नेता अमित मालवीय का पलटवार, कहा- कारसेवकों पर गोली चलवाने वालों से क्या अपेक्षा?
भाजपा आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट कर लिखा, “जिन राजनीतिक दलों ने दशकों तक कोर्ट में राम जन्मभूमि के निर्णय में अड़ंगा लगाया, तुष्टिकरण के चलते भगवान राम के अस्तित्व को ही नकार दिया, कारसेवकों पर गोलियां चलवाईं, उनसे ये अपेक्षा भी नहीं करनी चाहिए कि वो मंदिर निर्माण का कार्य बिना किसी दुर्भावना के संपन्न होने देंगे।”

गौरतलब है कि इस मामले में सबसे पहले सपा के पूर्व विधायक पवन पाण्डेय ने कागज दिखाते हुए आरोप लगाया कि पहले 2 करोड़ में जमीन का रजिस्टर्ड एग्रीमेंट कराया और 5 मिनट बाद ही 18.5 करोड़ में मंदिर ट्रस्ट को यह जमीन बेच दी गई।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending