Milkha Singh died: कोरोना की चपेट में आए 91 साल के मिल्खा सिंह का हुआ निधन, देश भर में शोक की लहर

महान धावक मिल्खा सिंह ने शुक्रवार रात अंतिम सांस ली। मिल्खा सिंह की उम्र 91 साल की बताई जा रही है। पिछले दिनों वह कोरोना की चपेट मे आ गए थे। हालांकि बुधवार को उनकी कोरोना रिर्पोट नेगेटिव आ गई थी। मिल्खा सिंह के निधन की खबर खुद मिल्खा के परीजनो मे मीडिया को दी। मिल्खा ने एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता में चार बार स्वर्ण पदक जीता है और 1958 के राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था। बता दें की पूर्व एथलीट मिल्खा सिंह को ‘फ्लाइंग सिख’ नाम से भी माना जाता है। 
गौरतलब हो की 13 जून को ही मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल कौर का कोरोना के कारण निधन हो गया था। अब मिल्खा सिंह के निधन के बाद मिल्खा सिंह के परिवार ने एक बयान जारी कर कहा, “उन्होंने बहुत संघर्ष किया लेकिन भगवान के अपने तरीके हैं और शायद यह सच्चा प्यार और साथ था कि हमारी मां निर्मल जी और अब पिताजी दोनों का निधन हो गया है।” परिवार ने कहा, हम पीजीआई में डॉक्टरों के बहादुर प्रयासों और दुनिया भर से और खुद से मिले प्यार और प्रार्थना के लिए उनके आभारी हैं। हम आपको धन्यवाद देते हैं।

देश भर में शोक की लहर, सचिन-कोहली समेत कई खिलाड़ियों और नेताओं ने भी दी श्रद्धांजलि

मिल्खा सिंह की मौत के बाद सचिन तेंदुलकर ने कहा, “रेस्ट इन पीस हमारे अपने ‘फ्लाइंग सिख’ मिल्खा सिंह जी। आपके निधन ने आज हर भारतीय के दिल में एक गहरा शून्य छोड़ दिया है, लेकिन आप आने वाली कई पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे।” वहीं विराट कोहली ने भी ट्वीट कर लिखा, “एक ऐसी विरासत जिसने पूरे देश को उत्कृष्टता के लक्ष्य के लिए प्रेरित किया। उसने कभी हार न मानी और अपने सपनों का पीछा किया। भगवान आपकी आत्मा को शांति दे मिल्खा सिंह जी। तुम्हें कभी भी नहीं भुलाया जा सकेगा।”

इन सब के साथ ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा, भारत ने एक सितारा खो दिया है। मिल्खा सिंह जी हमें छोड़ गए हैं, लेकिन वे हर भारतीय को देश के लिए चमकने के लिए सदैव प्रेरित करते रहेंगे। ‘फ्लाइंग सिख’ हमेशा भारतवासियों के दिलों में जीवित रहेंगे। ईश्वर से पुण्यात्मा की शांति की प्रार्थना करता हूं। विनम्र श्रद्धांजलि। 
राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज राज्य सरकार को मिल्खा सिंह का राजकीय सम्मान से अंतिम संस्कार करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने शनिवार को एक दिन का राजकीय शोक का भी आदेश दिया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, मिल्खा सिंह जी के निधन के बारे में सुनकर दुखी हूं। यह एक युग के अंत का प्रतीक है। शोक संतप्त परिवार और लाखों प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना। फ्लाइंग सिख की किंवदंती आने वाली पीढ़ियों के लिए गूंजेगी। आपकी आत्मा को शांति मिले- सर!

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending