तालिबानियों को आतंकी बताने वाली मीडिया वेश्या है और यह अल्लाह का न्याय है हर मुसलमान को खुश होना चाहिए: मौलाना कासिमी

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से ही भारत में भी हलचल तेज हो गई है। देश के कुछ दिग्गज नेता तो कुछ बड़े सितारे तालिबान के समर्थन में उतर चुके है। इसी कड़ी में अब भारत के कट्टरपंथी भी खुलकर तालिबान के समर्थन में आगे आने लगे है। इन्ही सब के बीच तमिलनाडु के मौलाना ने वीडियो जारी करके संदेश दिया है कि तालिबान की जीत का जश्न हर मुसलमान को मनाना चाहिए।

द कम्यून की रिपोर्ट के अनुसार, तमिलनाडु के इस मौलाना शमसुद्दीन कासिमी ने तालिबान को मुबारकबाद देते हुए कहा कि ये पल हर मुसलमान के लिए जश्न मनाने वाला है। कासिमी के मुताबिक अल्लाह के करम से अफगानिस्तान में तालिबान का दोबारा उदय हुआ है। 

वीडियो में मौलाना शमसुद्दीन कासिमी कहता है-“कोरोना की दूसरी लहर, तीसरी लहर और चौथी लहर के बारे में सुनने के बाद, यह अब तालिबान की दूसरी लहर है जो हर जगह खबरों में है। तालिबान की जीत के जरिए अल्लाह ने हम सभी को यह बड़ी जीत दिलाई है। मुस्लिम समाज को इस जीत का जश्न मनाना चाहिए। भारत पर शासन करने वाले, हमारे फासीवादी ‘जी’ (पीएम मोदी) कुछ नहीं जानते।

मूर्खों की कैबिनेट। वे मूर्ख प्रशासकों का एक समूह हैं। वे बाहरी मामलों को नहीं जानते हैं। उन्हें नहीं पता कि उन्हें किसे समायोजित करना चाहिए। चारों ओर देखो। श्रीलंका पर चीन का कब्जा है। चीन ने पाकिस्तान पर कब्जा कर लिया है। बांग्लादेश पर भी चीन धीरे-धीरे कब्जा कर रहा है। यह सब हमारे ‘जी’ की घटिया नीतियों के कारण है। उन्होंने चीन से सब कुछ गवा दिया।

अब उसी चीन ने तालिबान का समर्थन किया। तमिल अखबार दीनमालम (दिनमालार को अपमानजनक रूप से संदर्भित करते हुए) ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है जिसमें कहा गया है कि एक महिला को बुर्का नहीं पहनने के लिए गोली मार दी गई थी। अरे तुम लोग पेट की आग से मरोगे।”

मौलाना ने वीडियो में तालिबान को आंतकी बताने वाली मीडिया के लिए भी अपशब्दों का इस्तेमाल किया और मीडिया को ‘वेश्यावृत्ति मीडिया’ कह डाला। साथ ही यह भी कहा कि मुसलमानों को इस बात से नहीं घबराना चाहिए अगर मीडिया ये दिखाए कि वो लोग तालिबान से सहानुभूति रखते हैं।

मौलाना की वीडियो में तालिबान को ‘सामान्य’ और ‘शांतिपूर्ण’ समूह बताते हुए कहा गया कि वह लोग नागरिकों को नुकसान नहीं पहुँचाएँगे। इसके अलावा विवादित मौलाना ने संगठन का महिमामंडन करते हुए प्रधानमंत्री मोदी और अन्य मंत्रियों को फासीवादी और मूर्ख कहा।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending