एमसीडी चुनाव 2022 : सत्येंद्र जैन को लेकर फिर भड़की भाजपा, पूछा ये सवाल

भारतीय जनता पार्टी के नेता और दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा है। मनी लाउंड्रिंग मामाले में तिहाड़ जेल में बंद आप मंत्री सत्येंद्र जैन के मामले को लेकर घेरते हुए एक प्रेसवार्ता के दौरान रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि  ईमानदारी और सच्चरित्र की दुहाई देकर सत्ता में आने वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अंतरआत्मा और नैतिकता दम तोड़ चुकी है।
उनके मंत्री सत्येंद्र जैन को जेल गए हुए छह महीने होने को आ रहे हैं लेकिन उन्हें केबिनेट से नहीं हटाया गया। उन्होंने कहा कि नियमानुसार अगर कोई सरकारी कर्मचारी 48 घंटे हिरासत में बिताता है तो उसे नौकरी से निलंबित कर दिया जाता है। अगर उसे जेल भेजा जाता है तो उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया जाता है लेकिन सत्येंद्र जैन छह महीने से दिल्ली के मंत्री बने हुए हैं और अपने वेतन और भत्तों के साथ-साथ सारी सुविधाओं का लाभ उठा रहे हैं।

भाजपा नेता ने कहा कि  पूरी दुनिया को बेइमान और अपने आपको कट्टर ईमानदार कहने वाले केजरीवाल के भ्रष्टाचार का इससे बड़ा कोई और उदाहरण नहीं हो सकता। बिधूड़ी ने कहा कि राजनीति में गिरावट की ये इन्तहा हो चुकी है कि सत्येंद्र जैन न तो खुद इस्तीफा दे रहे हैं और न ही मुख्यमंत्री उन्हें हटा रहे हैं, वह मंत्री के रूप में पूरा वेतन और भत्ते भी ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली के एक मंत्री को 20 हजार रुपए मासिक वेतन, 18 हजार रुपए मासिक निर्वाचन क्षेत्र का भत्ता, 4 हजार रुपए मासिक अतिथियों के सत्कार का भत्ता, एक हजार रुपए प्रतिदिन का दैनिक भत्ता, 3000 यूनिट बिजली के बिल का भुगतान, 30 हजार रुपए डेटा ऑपरेटर के और दो अर्दली का न्यूनतम वेतन करीब 32 हजार रुपए लिए दिए जाते हैं। जब वह मंत्री के रूप में कार्य ही नहीं कर रहे और उनके पास कोई विभाग ही नहीं है तो फिर मंत्री के रूप में वेतन का सवाल ही पैदा नही होता।

 

भाजपा नेता ने कहा कि सत्येंद्र जैन 6 महीने से जेल में हैं और वह वेतन और भत्तों सहित इन सारी सुविधाओं का भी लाभ उठा रहे हैं।रामवीर सिंह बिधूड़ी ने सवाल  उठाते हुए कहा कि अगर सत्येंद्र जैन काम नहीं कर रहे तो फिर उन्हें वेतन क्यों दिया जा रहा है ? बता दे कि नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह रामवीर सिंह बिधूड़ी ने उपराज्यपाल से मांग की है कि वह इस मामले में हस्तक्षेप करके उचित कार्रवाई करें।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending