मणिपुर भूस्खलन :  अब तक 24 शव मिले, राहत बचाव का कार्य जारी

उत्तर पूर्व भारत के मणिपुर के नोनी जिले में रेलवे कंस्ट्रक्शन साइट पर हुए भूस्खलन में जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है जिसमें टेरिटोरियल आर्मी के 18 जवान भी शामिल है. मिली जानकारी के मुताबिक राहत और बचाव का कार्य तेजी से चल रहा है और उसमें कई टीमों को लगाया गया है. एक समाचार एजेंसी के मुताबिक अभी भी 38 लोग लापता बताए जा रहे हैं। साथ ही खबर है कि इसी बीच मणिपुर में घटनास्थल के नजदीक एक और भूस्खलन हुआ है। बताया जा रहा है कि मलबे में दबे लोगों की तलाश के लिए वॉल रडार का इस्तेमाल किया जा रहा है.

इसके अलावा अब तक ट्यूटोरियल आर्मी के 13 जवान और 5 नागरिकों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. जानकारी के मुताबिक इस हादसे में जान गंवाने वाले  सैन्य कर्मियों में एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर भी शामिल है. जेसीओ समय 14 जवानों के शव वायुसेना के दो विमानों के जरिए एक आर्मी हेलीकॉप्टर द्वारा उनके घर भेजे गए हैं. इसी बीच मणिपुर के मुख्यमंत्री एंड वीरेंद्र सिंह ने भी घटनास्थल का दौरा किया और बचत राहत कार्यों की जानकारी ली है. बता दें कि इसे मणिपुर के इतिहास में सबसे बड़ा भूखखस्लन हादसा बताया जा रहा है. घटनास्थल पर इस समय राहत और बचाव का कार्य काफी तेजी से चल रहा है ताकि मलबे में दबे लोगों को तेजी से निकाला जा सके. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending