महाराष्ट्र महाविकास अघाड़ी सरकार ने राज्यव्यापी बंद का किया आह्वान, सड़कों से गाड़ियां गायब और दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान हुए बंद

लखीमपुर खीरी में पिछले हफ्ते हुए घटनाक्रम के बाद से अब तक सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। तमाम विपक्षी पार्टियों ने पूरे मामले में अपना भरपूर दमखम लगा रखा है। इसी बीच महाराष्ट्र महाविकास अघाड़ी सरकार के तीनों दलों यानी कांग्रेस, NCP और शिवसेना ने आज राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है।

पूरे राज्य में बंद की शुरुआत हो चुकी है। मुंबई, पुणे, नागपुर समेत सभी बड़े शहरों में सड़कों से गाड़ियां गायब हैं और दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं। मुंबई में बेस्ट की 8 बसों को तोड़ने की जानकारी भी सामने आ रही है। कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा, “लोगों को केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों के प्रति जागरूक करने की जरूरत है।

इस संघर्ष में किसान अकेले नहीं हैं और उनके साथ एकजुटता दिखाने की प्रक्रिया महाराष्ट्र से शुरू होनी चाहिए।” इसके साथ ही राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा, “आधी रात से प्रदेश व्यापी बंद की शुरूआत हो चुकी। शिवसेना, NCP और कांग्रेस के कार्यकर्ता नागरिकों से मिल रहे हैं और उनसे बंद में शामिल होने तथा किसानों के साथ एकजुटता दिखाने का आग्रह कर रहे हैं।”

वहीं महाराष्ट्र के कल्याण में राकांपा कार्यकर्ता ने चेतावनी दी है कि अगर उन्हें प्रोटेस्ट के दौरान गिरफ्तार किया गया तो वे शरीर पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा देंगे। बंद के दौरान किसी अप्रिय घटना को टालने के लिए मुंबई में बड़े पैमाने पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया जा रहा है। पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है। इसके अलावा SRPF की तीन कंपनियां, होमगार्ड के 500 जवान और स्थानीय सशस्त्र इकाइयों के 400 जवान नवरात्रि के दौरान सुरक्षा के लिए पहले से तैनात हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending