लव शिकार: मुस्लिम युवक के प्यार में छोड़ा घर परिवार, अपनाया इस्लाम, प्रियंका से बनी फातिमा, प्रॉपर्टी के लिए मां से की मारपीट

देश भर में धर्मांतरण (Conversion) रैकेट की जड़ें कोने कोने तक जमकर बैठ चुकी है। दिन प्रतिदिन धर्म परिवर्तन कराने का मामला बढ़ते ही जा रहा है। आने वाले समय में यह एक दिन हमारे देश के लिए कोरोना से भी ज्यादा घातक सिद्ध होगा। मज़हबी फरेब को लेकर हर रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं, जिनमें बहला-फुसलाकर, पैसे का लालच या डरा-धमकाकर लोगों को मुसलमान बनाया गया है।

ऐसा ही एक ताजा मामला यूपी की राजधानी लखनऊ (Lucknow) से सामने आया है। जहां प्रिंयका सेन (Priyanka Sen) नाम की लड़की ने बहलाने फुसलाने के बाद घरवालों का विरोध कर अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन कर इस्लाम अपना लिया और अब वह  प्रियंका सेन से ‘फातिमा मुहम्मद फारूख’ बन चुकी है।

प्रियंका की मां माया सिंह रोते रोते बताती है कि उनकी बेटी पढ़ने में बहुत होशियार थी और घरवालों का हाथ बंटाना चाहती थी, लेकिन किसी के बहकावे में उसने अपना धर्म परिवर्तन कर लिया। अब प्रियंका उर्फ फातिमा किस शहर में है इसकी जानकारी ना ही घरवालों को है और ना ही रिशेतदारों को है।

अगले जन्म मोहे बिटिया ना दीजो

खास बात तो यह है की महिला ने सिर्फ अपना नाम और अपने धर्म का त्याग किया है बल्कि प्रियंका से फातिमा बनी महिला ने अपना जमीर तक गिरवी रख दिया है। एक कहावत तो आपने भी सुनी ही होगी की गिरगिट को देख कर ही गिरगिट अपना रंग बदलता है वही हाल यहां भी है। हिंदू धर्म का त्याग कर इस्लाम अपनाते ही फातिमा का व्यवहार इतना क्रूर हो गया की जिस मां ने उसे जन्म दिया आज वह उसी मां की दुश्मन बन बैठी।

जानकारी के मुताबिक, निकाह और धर्मांतरण के दो साल के बाद प्रियंका अपने घरवालों से मिलने लखनऊ आयी तो मां ने अपनाने से इनकार दिया तो वो मुस्लिम पड़ोसियों के साथ कुछ दिन रहकर चली गयी। इसके काफी सालों के बाद प्रियंका उर्फ फातिमा 8 महीने पहले एक बार फिर लखनऊ आयी, लेकिन इस बार उसने शरीयत कानून के हिसाब से घर और प्रापर्टी में अपना हिस्सा मांगा

और न देने पर अपने पति के साथ मिलकर मां और भाई के साथ मारपीट की और चली गयी। बेटी के इस तरह धर्म परिवर्तन करवाने और प्रापर्टी के लिए मारपीट करने से दुखी माया सिंह ने अब सारे रिश्ते खत्म कर लिये है और अब उनका कहना कहना है कि प्रियंका उर्फ फातिमा मुहम्मद फारूख से उनका कोई लेना देना नहीं है।

ऐसा किया धर्मांतरण और निकाह

प्रियंका सेन उर्फ फातिमा फारूख की मां माया सेन के मुताबिक साल 2010 में उनके पति के देहांत के बाद परिवार को पैसों की दिक्कत होने लगी।  जिसके बाद बेटी प्रियंका ने हजरतगंज के एक शोरूम में नौकरी कर ली। कुछ ही महीनों की नौकरी के बाद प्रियंका उर्फ फातिमा ने अपनी मां से नौकरी के लिए मुम्बई जाने की बात की। फातिमा ने बताया कि उसकी बात शोरूम में काम कर रहे किसी शख्स से हुई जो उसकी अच्छी तनख्वाह पर नौकरी लगवा रहा है।

मां ने भी गरीबी के कारण प्रियंका को जाने की इजाजत दे दी। हांलाकि इस बीच प्रियंका ने घरवालों से दूरी बना ली और मां के फोन करने पर हर बार अलग-अलग लोकेशन बताती। लेकिन जब पड़ोसियों ने प्रियंका को लेकर कुछ अजीब बातें बतायी तो मां ने फोन पर डांट डपटकर पूछा तो पता चला कि प्रियंका ने न सिर्फ मुहम्मद फारूख नाम के शख्स से शादी कर ली है, बल्कि अपना धर्म परिवर्तन भी कर लिया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending