दशहरा पर जलेबी खाने से प्रसन्न होते है प्रभु श्री राम, जानिए विजयादशमी से जलेबी का क्या हैं संबंध ?

दशहरा बुधवार को देशभर में धूमधाम से मनाया जाएगा। विजयादशमी को लेकर पूरे देश में हर्ष और उत्साह का माहौल देखने को मिल रहा हैं। मेले लग चुके है और बाजार की रौनक देखते ही बन रही है। शारदीय नवरात्रि का मंगलवार को अंतिम दिन था। बुधवार को देशभर में दशहरे का पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। दशहरे के दिन ही रावण दहन भी किया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि दशहरे का संबंधित जलेबी से भी है ? अगर नहीं तो आइये हम आपको बताते है कि आखिर किस प्रकार जलेबी का संबंध दशहरा से है।

जलेबियां हर किसी को पसंद होती है। हर उम्र के लोग जलेबी खाना खूब पसंद करते हैं। बड़े बुजुर्ग कहते हैं कि अगर दशहरे में जलेबी नहीं खाई तो एक तरफ से दशहरा अधूरा रह जाता हैं। इसीलिए दशहरे के दिन घर में या फिर अगर आप मेला घूमने जाते हैं तो आपको जलेबियां जरूर खानी चाहिए। धर्म शास्त्रों में कहा गया है कि जलेबी भगवान श्री राम को काफी पसंद थी। वें जब काफी प्रसन्न होते थे तो जलेबी जरूर खाते थे। इसलिए रावण के वध के बाद अयोध्या में लोगों ने भी जलेबी खाकर खुशियां मनाई थी।

ऐसी मान्यता है कि तभी से दशहरा पर जलेबी खाने का चलन बन गया। इसके अलावा जब भगवान श्री राम का जन्म हुआ था तो भी पूरे अयोध्या में राजा दशरथ द्वारा जलेबियां ही बटवा की गई थी। दशहरे के दिन जलेबी खाना काफी अहम माना जाता है। इसलिए दशहरे के दिन जलेबी जरूर खाएं। बड़े बुजुर्ग भी हमेशा ही कहते हैं कि दशहरा के दिन जलेबी जरूर खाने चाहिए। जलेबी को कर्णशुष्ककुलिका कहा जाता था।

ACNPEu8CrPKnWxScJDj1aXwoPNPbneLF6ocOFUHJkOe6=s40 pReplyForward

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending