डोनाल्ड ट्रम्प की तरह जो बाइडन भी रूस और चीन को मानते हैं चुनौती

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने अमेरिका के राष्ट्रपति पद की शपथ ले ली हैं और वे अमेरिका के सामने खड़ी चुनौतियों को बखूबी हल करने की दिश में अब धीरे – धीरे कदम बढ़ा रहे हैं. सूत्रों की माने तो बाइडन ने चीन और रूस को अमेरिका के लिए बड़ी चुनौती मानना शुरू कर दिया हैं.

अमेरिका के बाइडन प्रशासन ने संकेत दिया हैं कि वो चीन और रूस के लिए अलग – अलग रणनीति अपनाएगा. खबर है कि इसक कार्य के लिए अमेरिका इन दोनों देशों के पड़ोसी देशों से मदद लेगा.

इसी बीच व्हाइट हाउस की प्रवक्ता जेन पाकी ने बुधवार को मीडिया से बातचीत में इस बात का जिक्र किया. उन्होने कहा कि प्रेसिडेंट और प्रशासन का मानना हैं कि हमें अपने सहयोगियों के साथ मिलकर काम करने की जरूरत है.

हमें अपने सहयोगियों के साथ इस मसले पर काम करने की आवश्यकता है कि हमें चीन के साथ किस तरह का दृष्टिकोण रखना है. वहीं चीन और रूस के बार में जब पत्राकारों ने अमेरिका के अलग – अलग रूख को लेकर सवाल किया तो व्हाइट हाउस की प्रवक्त्ता जेन पाकी ने कहा कि ‘रूस के बारे में मुझे लगता है कि बाइडन की रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बातचीत इसका स्पष्ट प्रमाण है.

गौरतलब है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी चीन और रूस को बड़ी चुनौती मानते थे और अब अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन भी ठीक ऐसा ही मानते हैं.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending