आइए जानते है कब मनाये ईद और क्या क्या होता है इस दिन

इस्लाम धर्म की धार्मिक पुस्तक हदीस में इस बात पर विशेष जोर दिया गया है कि ईद-उल-जुहा और ईद-उल-फित्र के दिन मुसलमानों को अवश्य नमाज पढ़नी चाहिए। हदीस के अनुसार ईद मुसलमानों के लिए बेहद खुशी का दिन होता है।

 इस्लामी कैलेंडर का नौवां महीना है। इस पूरे माह में रोजे रखे जाते हैं। इस महीने के खत्म होते ही 10वां माह शुरू होता है। इस माह की पहली चांद रात ईद की  चांद रात होती है। इस रात का इंतजार वर्षभर खास वजह से होता है, क्योंकि इस रात को दिखने वाले चांद से ही इस्लाम के बड़े त्योहार ईद-उल-फितर का ऐलान होता है।

इस साल 14 मई 2021 को ईद मनायी जाएगी। लेकिन अगर चांद एक दिन पहले दिखाई देता है फिर 13 मई को ईद का त्योहार मनाया जाएगा।

भारत में ईद का त्योहार यहां की गंगा-जमुनी तहजीब के साथ मिलकर उसे और जवां और खुशनुमा बनाता है। हर धर्म और वर्ग के लोग इस दिन को तहेदिल से मनाते हैं।

 ईद के दिन सिवइयों या शीर-खुरमे से मुंह मीठा करने के बाद छोटे-बड़े, अपने-पराए, दोस्त-दुश्मन गले मिलते हैं तो चारों तरफ मोहब्बत ही मोहब्बत नजर आती है। एक पवित्र खुशी से  दमकते सभी चेहरे इंसानियत का पैगाम माहौल में फैला देते हैं। अल्लाह से दुआएं मांगते व रमजान के रोजे और इबादत की हिम्मत के लिए खुदा का शुक्र अदा करते हाथ हर तरफ दिखाई पड़ते हैं और यह उत्साह बयान करता है कि लो ईद आ गई।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending