गुजरात में लव जिहाद पर बना कानून, अब जबरन धर्मांतरण करने पर होगी 10 साल की सजा, 2 लाख का लगेगा जुर्माना

मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के बाद अब गुजरात में भी लव-जिहाद पर सख्त कानून बन चुका है। इस नए कानून के तहत धोखाधड़ी से शादी करके जबरन धर्म परिवर्तन कराने के मामले में 10 साल की सजा (10 Year Imprisonment) और 2 लाख रु जुर्माने का प्रावधान रखा गया है। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने संशोधन विधेयक को अपनी मंजूरी दे दी है और अब यह कानून प्रभाव में आ चुका है।

गुजरात धार्मिक स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021

गुजरात धार्मिक स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021  मुताबिक, शादी के जरिए जबरन धर्म परिवर्तन कराना, या शादी कराकर धर्म बदलवाना, या इस तरह के मामले में सहायता करने पर तीन से पांच साल की जेल हो सकती है वहीं 2 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। अगर पीड़ित नाबालिग, महिला, दलित या आदिवासी है, तो इसके लिए आरोपी को चार से सात साल की जेल और कम से कम 3 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।

गुजरात के मंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया, “गुजरात धार्मिक स्वतंत्रता (संशोधन) विधेयक, 2021 को इस साल एक अप्रैल को राज्य विधानसभा द्वारा पारित किया गया था। राज्यपाल ने इस विधेयक को सात अन्य विधेयकों के साथ मंजूरी दे दी ( Governor Approval) है।” उन्होंने बाताया कि इसके साथ ही राज्यपाल ने उन सभी 15 विधेयकों को मंजूरी दी है, जिन्हें विधानसभा के बजट सत्र के दौरान पारित किया गया था।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending