जानें सावन का तीसरा सोमवार का व्रत रखने वाले लोगों को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

सभी लोगों के जीवन में खानपान का एक महत्वपूर्ण स्थान होता है। दरअसल होता कुछ यूं है हम रोजाना जिस तरह के खाने का सेवन करते हैं, हमें उसी तरह के फायदे उस खाने से मिलते हैं। हालांकि, वक्त के साथ खाने की चीजों में बस थोड़ा बदलाव करना होता है। जैसे- सुबह नाश्ते मे कुछ अलग, तो रात के खाने में कुछ अलग। इसके अलावा जब व्यक्ति व्रत रहता है तब उसका खानपान पूरी तरह से बदल जाता है। इस कड़ी में जैसा आप और हम सब लोग इस बात से वकीफ हैं पिछले महीने से सावन के महीने की शुरुआत हो गई है और आज सावन का तीसरा सोमवार है।

सावन के पूरे महीने लोग भगवान शिव आराधना करते हैं और उनके नाम का व्रत भी रखते हैं। इस दिन व्रत के दौरान लोग अन्न ग्रहण नहीं करते हैं, लेकिन इनमें कुछ लोग इस उलझन में भी रहते हैं कि उन्हें इस व्रत में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? तो आइये जान लेते हैं इस व्रत के दौरान किन चीजों का सेवन करना चाहिए और किन चीजों को खाने से परहेज करना चाहिए।

इन चीजों का व्रत में सेवन करें….

जो भी लोग सावन के महीने में सोमवार का व्रत रख रहे हैं वो सूखे मेवे खा सकते हैं। इसमें बादाम, अखरोट और काजू का सेवन भी कर सकते हैं। ये आपको एनर्जी देगा।

अगर आप भोले बाबा का व्रत कर रहे हैं तो इस दौरान आपको सात्विक भोजन करना चाहिए। इसमें आप अरबी, कद्दू, आलू और लौकी का सेवन कर सकते हैं।  

 व्रत के दौरान फल भी खाए जा सकते हैं। दरअसल फलों के सेवन से आप हेल्दी रहेंगे।  

बहुत से ऐसे लोग जो व्रत के दौरान पानी तक नहीं पीते हैं, लेकिन ध्यान रखें आपको पानी जरूर पीना चाहिए। क्योंकि इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होती है और आपको थकावट नहीं लगती है।  

 इन चीजों को खाने से बचें….

-बहुत से शिव भक्त आस्था की वजह से व्रत के दौरान पूरे दिन भूखे रहते हैं। व्रत में पूरे दिन खाली पेट  रहकर सिरदर्द, पेट दर्द, थकान जैसी  परेशानियां झेलनी पड़ सकती है। इसलिए आप ऊपर बताई गई चीजों का सेवन कर सकते हैं।

-कई लोग व्रत रखकर बहुत बार चाय पी लेते हैं, जिस कारण उन्हें गैस की दिक्कत हो जाती है। ऐसा इस वजह से होता है क्योंकि जब हम खाली पेट चाय पीते हैं, तो हमें गैस बनना लाजमी है। इसलिए चाय पीने से बचना चाहिए।

– व्रत के दौरान कई लोग काफी तला-भुना खाते हैं, जिसके बाद  कभी-कभी पेट दर्द, गैस और अपच की समस्या हो जाती है। इसलिए इनका सेवन न के बराबर करना चाहिए या तो नहीं ही करना चाहिए।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending