जानिए क्या है प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, किसे और कितना लाभ मिलेगा?

केन्द्र सरकार द्वारा कोविड की पहली लहर के दौरान 26 मार्च 2020 को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना शुरू की गई। जिसके बाद अब फिर से पीएम मोदी द्वारा देश को कोरोना वायरस के मद्देनजर संबोधित करते हुए इस योजना को जारी रखने का ऐलान किया है। केन्द्र सरकार ने सोमवार (7 जून 2021) शाम राष्ट्र के नाम अपने संबोधन के दौरान देशभर के करीब 80 करोड़ लोगों को इस साल दिवाली तक पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना (PM Garib Kalyan Ann Yojana) के तहत मुफ्त में अनाज देने का ऐलान किया है। प्रधानमन्त्री की इस योजना का मकसद कोरोना काल में गरीब और जरूरतमंदों को अनाज मुहैया कराना है।

कोरोना काल के चलते गरीब परिवारों को जून 2021 तक मुफ्त अनाज देने का एलान किया गया था लेकिन अब इसे बढ़ाकर दिवाली तक कर दिया गया है।यह योजना केंद्र सरकार द्वारा मार्च 2020 में लागू की गई थी। जिससे करीब 80 करोड़ राशन कार्ड धारकों को लाभ मिलना है। पहले भी मार्च के बाद इस योजना का विस्तार कर दिवाली तक बढ़ा दिया गया था। इसके बाद मई और जून 2021 तक बढ़ा दिया गया था। अब दिवाली तक बढ़ा दिया गया है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना
• प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKY) की मदद से देश के 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को मुफ्त अनाज दिया जाता है।
• प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत देश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिक जैसे कि सड़क पर रहने वाले, कूड़ा उठाने वाले, फेरी वाले, रिक्शा चालक, प्रवासी मजदूर आदि को प्राथमिकता दी जाएगी।
• नियम के अनुसार जिन लोगों के पास राशन कार्ड है वे लोग 5 किलो अनाज मुफ्त में ले सकते हैं। इसके लिए आपके पास राशन कार्ड होना अनिवार्य है या आपका नाम राशन कार्ड में होना जरूरी है। उन्‍हीं लोगों को इस योजना का लाभ मिलेगा।

• इस योजना के राशानकार्ड धारकों को तय मात्रा में अनाज दिया जाता है। अगर किसी राशनकार्ड में चार लोगों के नाम दर्ज हैं तो प्रत्‍येक को 4 किलो गेहूं और 1 किलो चावल प्रति माह दिया जाता है। यानी चार लोगों के परिवार के घर में 16 किलो गेहूं और 4 किलो चावल प्रति माह दिया जाएगा।
• इस योजना के तहत राज्यो और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा एफसीआई डिपो से 63.67 लाख मैट्रिक टन से ज्यादा खाद्यान्न लिया गया है। मई 2021 में करीब 34 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के 55 करोड़ लाभार्थियों को अनाज बांटे गए हैं। यह अनाज करीब 28 लाख मैट्रिक टन है।

किसे और कितना लाभ मिलेगा ?
• इस योजना का लाभ राशन कार्ड धारकों को मिलेगा। मुफ्त अनाज के साथ 5 किलो अतिरिक्त अनाज भी मिलेगा।
• राशन कार्ड पर 4 लोगों के नाम होने पर चारों सदस्य को 5 किलो राशन गेहूं और चावल मिलता है। यह कुल राशन 20 किलो हुआ।
• देश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिक जैसे कि सड़क पर रहने वाले, कूड़ा उठाने वाले, फेरी वाले, रिक्शा चालक, प्रवासी मजदूर आदि को प्राथमिकता दी जाएगी।
• इस योजना के तहत दिवाली तक प्रति सदस्य को अतिरिक्त 5 किलो राशन फ्री में मिलेगा। यानी अब दिवाली तक 10 किलो राशन प्रति व्यक्ति को मिलेगा। गरीब परिवार को मूल्य केवल एक राशन का ही चुकाना है। बाकी का केंद्र सरकार खर्च उठाएगी। ऐसे में दिवाली तक गरीब परिवार को 40 किलो राशन मिलेगा।

21 जून से 18+ के लोगों के लिए केंद्र सरकार सभी राज्यों को मुफ्त वैक्सीन देगी- पीएम मोदी

प्रधानमन्त्री गरीब कल्याण अन्न योजना के साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने देशभर में 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए मुफ्त वैक्सीन की भी घोषणा की है।देश के नाम संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा-
”21 जून, सोमवार से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए भारत सरकार राज्यों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त वैक्सीन मिली है। अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़ जाएंगे। सभी देशवासियों के लिए भारत सरकार ही मुफ्त वैक्सीन उपलब्ध करवाएगी।”

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending