केरल: सुप्रीम कोर्ट ने लगाई सरकार को फटकार कहा- कोविड-19 नियमो का पालन करें राज्य सरकार

एक तरफ जहां कोरोना को तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए देश के सभी राज्यों में कांवड़ यात्रा और बाकी त्योहारों को सार्वजनिक तौर पर मनाने पर रोक लगा दी गई है। वहीं केरल सरकार ने बकरीद के मौके पर लोगों को दुकानें खोलने की इजाजत दे दी है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट अपनी नाराजगी जाहिर की है।

मंगलवार सुबह सुप्रीम कोर्ट ने केरल सरकार को जमकर लताड़ते हुए कहा है कि केरल सरकार कांवड़ यात्रा में दिए आदेश का पालन करे। कोर्ट ने ये भी कहा कि अफसोस की बात है कि राज्य सरकार व्यापारी संगठनों के दबाव में आ गई। इन इलाकों में भी दुकान खोलने की मंजूरी दी, जहां कोरोना की पॉजिटिविटी रेट 15 फीसदी से ज्यादा है।

सुप्रीम कोर्ट के बयान पर केरल सरकार के वकील रंजीत कुमार ने कहा कि 15 जून से ही दफ्तर और दुकानें खुलने लगी थीं। ऐसा नहीं है कि ये आज ही हो रहा है। हालात को देखकर धीरे-धीरे छूट बढ़ाई जा रही है। केरल सरकार ने इससे पहले सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि लॉकडाउन हमेशा के लिए नहीं चल सकता। मंदी से परेशान व्यापारियों को राहत देने के लिए उसने बकरीद पर दुकानें खोलने की मंजूरी दी है।

इस पर जस्टिस नरीमन ने कहा कि केरल सरकार के फैसले से अगर कोरोना फैलता है, तो जनता का कोई भी हमारे पास आ सकता है। तब हम एक्शन लेंगे। उन्होंने याचिकाकर्ता से ये भी कहा कि आप देर से हमारे पास आए। बता दें कि केरल में आज भी बकरीद का त्योहार मनाया जा रहा है। बाकी देश में बकरीद कल मनाया जायेगा।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending