केजरीवाल सरकार ने रजिस्टर्ड निर्माण श्रमिकों को दी सौंगात, डीटीसी की बसों में कर पाएंगे मुफ्त यात्रा

दिल्ली के सभी रजिस्टर्ड निर्माण श्रमिक अब डीटीसी क्लस्टर बसों में फ्री में यात्रा कर सकेंगे। केजरीवाल सरकार ने ऐतिहासिक कदम उठाते हुए दिल्ली के सभी रजिस्टर्ड निर्माण श्रमिकों को फ्री बस यात्रा पास मुहैय्या करवाया। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व श्रम मंत्री मनीष सिसोदिया ने 100 निर्माण श्रमिकों को मुफ्त बस यात्रा पास देकर इस योजना की शुरुआत की| इस मौके पर उपमुख्यमंत्री ने कहा कि “हमारे निर्माण श्रमिक राष्ट्र के निर्माता हैं और देश के आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। केजरीवाल सरकार इन राष्ट्र निर्माताओं की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि बाबासाहेब का मानना था कि जिन्हें कुदरत से कम मिला है उनके लिए सरकार बेहतर ढंग से काम करते हुए लाभकारी योजनाएं बनाए।

बाबा साहेब के इस विज़न को पूरा करते हुए दिल्ली सरकार दिल्ली के निर्माण श्रमिकों की बेहतरी व उन्हें सपोर्ट करने का काम कर रही है| सिसोदिया ने कहा कि बहुत कम निर्माण श्रमिकों ऐसे होते है जिन्हें उनके कंस्ट्रक्शन साईट के पास ही रहने की जगह मिलती है| जबकि ज्यादातर श्रमिक निर्माण स्थल से काफी दूर रहते है और रोजाना उन्हें अपने निर्माण स्थल तक आने-जाने के लिए पैसा खर्चना होता है|  निर्माण श्रमिकों की यात्रा संबंधी समस्याओं को समाप्त करने के लिए व यात्रा खर्च बचाने में उनकी मदद करने के लिए केजरीवाल सरकार ने उनके लिए “मुफ्त बस यात्रा पास” योजना की शुरुआत की है। जिसके माध्यम से हमारे श्रमिक भाई अब पूरे शहर में डीटीसी बसों में मुफ्त यात्रा कर पाएंगे|  

निर्माण श्रमिकों को डीटीसी क डीटीसी और कल्सटर बसों में मुफ्त यात्रा के लिए डीटीसी की वेबसाइट पर या इसके लिए दिल्ली बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड द्वारा शुरू किए जा रहे 34 रजिस्ट्रेशन बूथों पर मुफ्त पास के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होगा और इसके तुरंत बाद उन्हें पास दिया जाएगा। उपमुख्यमंत्री ने श्रमिकों से अपील करते हुए कहा कि वे स्वयं को जल्द से जल्द दिल्ली बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड के साथ रजिस्टर्ड कराए ताकि उन्हें सरकार द्वारा दी जाने वाली कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि रजिस्ट्रेशन के बाद सभी निर्माण श्रमिक अपने कल्याण के लिए शुरू की गई विभिन्न योजनाओं जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य लाभ, विवाह, मातृत्व, पेंशन आदि का लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं।

इस मौके पर दिल्ली विधानसभा के एजुकेशन स्टैंडिंग कमेटी की चेयरपर्सन व कालकाजी की विधायक आतिशी, ने कहा कि एक शहर को बनाने, खड़ा करने वाले निर्माण मजदूर ही होते है लेकिन पिछली सरकारों ने इस पर कोई खास ध्यान नहीं दिया। “दिल्ली की केजरीवाल सरकार शायद भारत की ऐसी पहली सरकार है जो पंक्ति में आखिर पर खड़े व्यक्ति के बारे में सोचती है और उनके लिए काम भी करती है। गौरतलब है कि दिल्ली में कुल 12 लाख निर्माण श्रमिक है जिनमें से 10 लाख श्रमिक रजिस्टर्ड है| आपको बता दे कि केजरीवाल सरकार की इस योजना से श्रमिकों में खुशी की लहर हैं देखी जा रही हैंl

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending