रेसलर दिव्या काकरान के आरोपों पर केजरीवाल सरकार ने दी सफाई, कहा – उन्होंने मदद के लिए आवेदन ही नहीं दिया

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में कांस्य पदक जीतने वाली महिला पहलवान दिव्या काकरान ने हाल ही में दिल्ली सरकार पर आरोप लगाया था कि वह दिल्ली की तरफ से खेलती रही लेकिन दिल्ली सरकार की तरफ से उन्हें कोई मदद नहीं मिली। वही आप महिला पहलवान दिव्या काकरान कि आरोपों पर दिल्ली सरकार ने अब सफाई दी है। दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने कहा है कि वह हर साल हजारों खिलाड़ियों को सहायता देती है लेकिन जहां तक दिव्या काकरान की बात है तो उन्होंने कभी सहायता के लिए आवेदन ही नहीं दिया।

केरल सरकार का कहना है कि जो भी खिलाड़ी सहायता के लिए आवेदन करते हैं, उन्हें हर साल सहायता मिल रही है। केजरीवाल सरकार का कहना है कि साल 2017 तक दिव्या को दिल्ली सरकार की ओर से सहायता दी जाती रही है लेकिन बाद में वह उत्तर प्रदेश की तरफ से खेलने लगी। सरकार द्वारा इस मामले में कहा गया है कि रेसलिंग फेडरेशन ने भी कहा है कि दिव्या 2017 के बाद से उत्तर प्रदेश की ओर से खेल रही है। बता दे कि कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में देश को रजत पदक दिलाने वाली दिव्या काकरान के आरोपों पर भाजपा ने भी दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा है।

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मामले में दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को घेरा है कहा कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल केवल खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने का ढोंग करते हैं लेकिन सही मायने में वे खिलाड़ियों की मदद नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिव्या काकरान जिन्होंने देश को कॉमनवेल्थ गेम 2022 में रजत पदक दिलाया है, उन्होंने अब दिल्ली सरकार की पोल खोल दी है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending