दिल्ली सचिवालय में ध्वजारोहण के दौरान केजरीवाल का ऐलान, स्कूलों में भी शुरू होगा ‘देशभक्ति पाठ्यक्रम’

रविवार को 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली सचिवालय भवन में ध्वजारोहण के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 27 सितंबर से दिल्ली सरकार के स्कूलों में ‘देशभक्ति पाठ्यक्रम’ शुरू किए जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा पाठ्यक्रम फिजिक्स, केमिस्ट्री पढ़ाता है, लेकिन देशभक्ति नहीं। यह ‘देशभक्ति पाठ्यक्रम’ हमारे बच्चों में देशभक्ति का भाव जगाएगा।

उन्होंने आर्मी स्कूल भी जल्द खोलने की घोषणा की और दिल्ली शिक्षा बोर्ड के गठन से लेकर अंतर्राष्ट्रीय बोर्ड के साथ करार की भी जानकारी दी। इसके साथ ही दिल्ली में 2 अक्टूबर से योगा क्लास लगने की बात भी कही। केजरीवाल ने कहा कि वर्क, कम्युनिटी सेंटर कॉलोनी में जहां भी लोग चाहेंगे वहीं बनेगा।

केजरीवाल ने यह भी कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्नातक की उपाधि के संबंध में समझौता होने के बाद दिल्ली के सरकारी स्कूल अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा दी जाएगी। इसके अलावा दिल्ली ने नवाचारों और विचारों के अनोखे तरीकों को सामने रखकर देश को शासन का मॉडल दिया है।

केजरीवाल ने आगे मोहल्ला क्लीनिक, मुफ्त बिजली-पानी पर बोलते हुए कहा, कि “खुशी हो रही है देश के दूसरे राज्य इसे फॉलो कर रहे हैं। लोगों को न्यूनतम बुनियादी जरूरत उपलब्ध कराना सरकार की जिम्मेदारी होती है। बिजली, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधा सरकार की जिम्मेदारी हैं और ये सभी गरीब को मिलनी चाहिए।”

केजरीवाल ने कहा कि, “कोविड महामारी के दौरान लोगों की जान बचाने के लिए अपने जीवन का बलिदान देने वाले डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ को सलाम, उनका बहुत-बहुत धन्यवाद। दिल्ली सरकार ने वैश्विक महामारी के दौरान जान गंवाने वाले फ्रंट लाइन वर्कर्स के परिवारों को एक करोड़ रुपये दिए, हम उन्हें बताना चाहते हैं कि हम उनके साथ हैं।” 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending