बरसात के इस मौसम में इन बातों का रखें ध्यान, वरना टाइफाइड दे देगा दस्तक

बारिश का मौसम शुरू हो गया है. देश के अधिकतर हिस्सों में मानसून ने दस्तक दे दी है और लगातार पड़ रही भीषण गर्मी की से लोगों को राहत मिली है. बारिश का मौसम जहां लोगों को गर्मी से राहत दिलाने का कार्य करता है और इससे मौसम सुहाना हो जाता है तो इस बात से भी कतई इंकार नहीं किया जा सकता कि बारिश के मौसम में कई प्रकार की बीमारियां होने का भी खतरा बना रहता है.

बरसात के इस मौसम में टाइफाइड का प्रकोप कुछ ज्यादा ही बढ़ा जाता है. टाइफाइड हो जाने के बाद लोग काफी परेशान हो जाते हैं. वैसे तो टाइफाइड एक सामान्य रोग है जो बैक्टीरिया और गंदगी की वजह से होता है लेकिन इससे बचाव काफी जरूरी है क्योंकि यह कई बार टाइफाइड स्वास्थ्य को काफी ज्यादा बिगाड़ देता है. तो आइए जानते हैं कि बारिश के मौसम में टाइफाइड से बचाव के लिए हमें क्या कुछ करना चाहिए. 

1. पीने के पानी का रखें ध्यान – बरसात के मौसम में जैसा कि टाइफाइड का खतरा बढ़ जाता है तो ऐसी स्थिति में हमें अपने पीने के पानी का विशेष ध्यान रखना चाहिए.  दरअसल टाइफाइड गंदा पानी पीने और पीने के पानी को लेकर की गई लापरवाही के कारण भी होता है. इसलिए बरसात के समय हमेशा साफ और शुद्ध पानी पिए और हमेशा पीने के पानी को ढक कर रखें. 

2. फल और सब्जियों को धोकर ही करें प्रयोग – बरसात के मौसम में फल और सब्जियों को बिना धोए खाना टाइफाइड को बुलावा देने जैसा है. इसलिए जब भी आप बरसात के इस मौसम में फल और सब्जियों का सेवन करें तो उससे पहले उसे जरूर धोएं। इसके अलावा डॉक्टरों द्वारा इस मौसम में पत्तेदार सब्जियां खाने से परहेज करने की सलाह भी दी जाती है. दरअसल पत्तेदार सब्जियों में बारीक कीड़े होते हैं जो पेट में जाकर फूड प्वाइजनिंग होने के खतरे को बढ़ा सकते हैं. ऐसे में बारिश के मौसम में पत्तेदार सब्जियों से दूरी बनाना ही बेहतर होता है.

3. डेयरी प्रोडक्ट्स को कहे ना – मॉनसून के इस मौसम में डेयरी प्रोडक्ट्स को अपने डाइट में शामिल करने से बचना चाहिए. खासकर कच्चे दूध से बने पदार्थ जैसे की मीठाई, बाजार का मिल्क शेक, कच्चे दूध से बना पनीर आदि। लेकिन अगर आपको पनीर खाना काफी पसंद हैं तो पनीर को उबालकर ही प्रयोग करें क्योकि पनीर को उबालने से इसमें मौजूद बैक्टीरिया का नाश हो जाता है जो पेट खराब होने से बचाता है। साथ ही बरसात के इस मौसम में दूध का सेवन रात के समय ना करें क्योंकि बरसात के इस मौसम में दूध रात के समय देर से पचता है बल्कि इसे आप अपने नाश्ते में शामिल करते हैं ताकि ये आसानी से पच जाए।

4. ज्यादा भीगने से बचें – बरसात का मौसम आते ही लोग काफी एक्साइटेड हो जाते हैं लोग कई बार लगातार बारिश में स्नान कर लेते हैं जिससे कि उनकी तबीयत बिगड़ने का चांस काफी ज्यादा बढ़ जाता है.  दरअसल, काफी ज्यादा बारिश में नहाने से सर्दी-जुकाम और टाइफाइड होने का खतरा बढ़ जाता है.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending