कर्नाटक: बसवराज बोम्मई ने ली राज्य के नए मुख्यमंत्री के तौर शपथ, राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने दिलाई शपथ

बुधवार को बसवराज बोम्मई (Basavaraj Bommai) ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। राज्यपाल थावरचंद गहलोत ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। बोम्मई ने कर्नाटक के 30वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। बसवराज बोम्मई ने भगवान के नाम पर शपथ ली। जानकारी के अनुसार मंत्रिमंडल का विस्तार बाद में किया जाएगा।

समाजवादी दर्शन से ताल्लुक रखने वाले और अब भाजपा के सिद्धांतों को मानने वाले बोम्मई की राजनीतिक यात्रा ने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेते ही एक नया मील का पत्थर साबित कर दिया। 28 जनवरी को बोम्मई ने 60 साल पूरे किए। हालांकि उन्होंने कर्नाटक के 30वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है, लेकिन उन्हें 23वें मुख्यमंत्री के रूप में भी माना जाएगा, क्योंकि कई लोगों ने कई बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है।

कौन है बसवराज बोम्मई
28 जनवरी 1960 को जन्मे बसवराज सोमप्पा बोम्मई कर्नाटक के गृह, कानून, संसदीय मामलों के मंत्री हैं। उनके पिता एसआर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट बसवराज ने जनता दल के साथ राजनीति की शुरुआत की थी। वे धारवाड़ से दो बार 1998 और 2004 में कर्नाटक विधान परिषद के लिए चुने गए।

इसके बाद वे जनता दल छोड़कर 2008 में भाजपा में शामिल हो गए। इसी साल हावेरी जिले के शिगगांव से विधायक चुने गए। इंजीनियर और खेती से जुड़े होने के नाते बसवराज को कर्नाटक के सिंचाई मामलों का जानकार माना जाता है। राज्य में कई सिंचाई प्रोजेक्ट शुरू करने की वजह से उनकी तारीफ होती है। उन्हें अपने विधानसभा क्षेत्र में भारत की पहली 100% पाइप सिंचाई परियोजना लागू करने का श्रेय भी दिया जाता है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending