अपने ही देश में घिरे जो बाइडन, ट्रंप ने भी बोला हमला कहा- काबुल से और कितने आतंकी अमेरिका लाएंगे बाइडन

अफ़गानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से ही अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन सवालों के घेरे में आ चुके है। पूरे मामले में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शुरुआत से ही बाइडन पर हमलावर रहें है। इस बीच अब डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को एक बयान जारी करते हुए चिंता जताई है कि हो सकता है निकासी प्रक्रिया के रूप में काबुल से हजारों आतंकी एयरलिफ्ट किए गए हों और अफगानिस्तान से बाहर निकल गए हों। 

ट्रंप ने अपने बयान में कहा की जो बाइडन ने अफगानिस्तान को आतंकवादियों के हवाले कर दिया और हमारे नागरिकों के सामने सेना को हटाकर हजारों अमेरिकियों को मरने के लिए छोड़ दिया। ट्रंप ने आगे कहा कि अब हमें यह जानकारी मिल रही है कि अफगानिस्तान से जिन 26,000 लोगों को निकाला गया है, उनमें से केवल 4,000 अमेरिकी हैं।

उन्होंने कहा कि हम केवल कल्पना कर सकते हैं कि अफगानिस्तान से दुनिया भर के पड़ोस में और कितने हजारों आतंकवादियों को एयरलिफ्ट किया गया है। क्या भयानक विफलता है। इसकी कोई जांच नहीं। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि जो बाइडन अमेरिका में और कितने आतंकवादी लाएंगे? हम नहीं जानते।

इस बीच अफगानिस्तान में युद्ध के एक अनुभवी रिपब्लिकन कांग्रेसी माइक वाल्ट्ज ने जो बाइडेन की गतिविधियों को निंदा करता हुआ कहा की राष्ट्रपति बाइडन ने वैश्विक मंच पर संयुक्त राज्य अमेरिका को शर्मसार किया है और हमारे आधुनिक इतिहास में यह सबसे खराब विदेश नीति रही है। बता दें अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अफ़गानिस्तान से अमरीकियो को बाहर निकलने के लिए 31 अगस्त तक का समय मांगा है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending