janmashtami 2021: जानिए जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त, इस तरह करें भगवान की पूजा-अर्चना होगी हर मनोकामना पूर्ण

हिंदू धर्म में कृष्ण जन्माष्टमी का अपना खास महत्व होता है। कृष्ण जन्माष्टमी हर साल भादों के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाई जाती है इस बार जन्माष्टमी 30 अगस्त यानी आज मनाई जाएगी। इस दिन लोग न सिर्फ मंदिरों में भगवान की पूजा-अर्चना के लिए जाते हैं बल्कि कई लोग अपने घरों में कृष्ण जी को लेकर आते हैं। जिससे उनके जीवन में प्रभु की कृपा बनी रहे। तो चलिए आपको बताते हैं क्या है जन्माष्टमी का शुभ मुहुर्त, कैसे करें पूजा, पूजा में किन चीजों इस्तेमाल करना चाहिए…

जन्माष्टमी का शुभ समय

जन्माष्टमी के दिन बाल गोपाल की पूजा का मुहूर्त सोमवार रात 11:59 बजे से शुरू होकर रात 12:44 मिनट तक रहेगा। जन्माष्टमी के दिन रोहिणी नक्षत्र की शुरुआत सुबह 6 बजकर 39 मिनट से शुरू होकर अगले दिन सुबह 9 बजकर 43 मिनट तक रहेगा। इसके अलावा हर्षण योग सुबह 7 बजकर 48 मिनट से शुरू होगा। सुबह 6 बजकर 39 मिनट से 31 अगस्त को सुबह 5 बजकर 59 मिनट तक सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा।

पूजा में ये चीजें करें शामिल

कृष्ण जन्माष्टमी पर बालगोपाल के लिए झूला, बालगोपाल की लोहे या तांबे से बनी मूर्ति, बांसुरी, बालगोपाल को पहनाने के लिए कपड़े, श्रृंगार के लिए गहने, केसर, सिंदूर, सुपारी, अक्षत, मक्खन, गंगाजल, धूप बत्ती, कुमकुम, कपूर, बालगोपाल के झूले को सजाने के लिए फूल, तुलसी के पत्ते, चंदन, कमलगट्टे, तुलसीमाला, धनिया खड़ा, शकर, शुद्ध घी, दही, पान के पत्ते, पुष्पमाला, लाल कपड़ा, केले के पत्ते, शहद, दूध और मिश्री आदि।

ऐसे करें पूजा

> सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करें।

> अब घर के मंदिर को अच्छे से साफ करें।

> घर के मंदिर में दीया जलाएं।

> अब सभी देवी-देवताओं का जलाभिषेक करें।

> जन्माष्टमी के दिन श्री कृष्ण के बाल रूप यानी लड्डू गोपाल की पूजा की जाती है ऐसे में इनका भी जलाभिषेक करें।

> अब लड्डू गोपाल को झूले पर बैठाएं।

> अब लड्डू गोपाल को झूला झूलाएं।

> इसके बाद अपनी इच्छा के अनुसार लड्डू गोपाल को भोग लगाएं। यहां इस बात का ख्याल रखें कि बाल गोपाल को केवल सात्विक चीजों का भोग लगाया जाना चाहिए।

> लड्डू गोपाल की सेवा एक छोटे बेटे की तरह की जानी चाहिए।

> जन्माष्टमी के दिन रात्रि पूजा की खास महत्व होता है क्योंकि इसी दिन रात के वक्त श्री कृष्ण का जन्म हुआ था ऐसे में आपको रात्रि में भगवान श्री कृष्ण की विशेष पूजा करनी चाहिए।

> लड्डू गोपाल को लगाए जाने वाले भोग में मिश्री, मेवा शामिल होना चाहिए।

> अब आप लड्डू गोपाल की आरती उतारें।

> दूसरे दिनों के मुकाबले इस दिन लड्डू गोपाल की जितनी हो सके उतनी सेवा और ध्यान रखना चाहिए।

जरूर करें ये उपाय

वैसे तो सभी इस दिन श्री कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह के उपाए करते हैं लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे आसान उपाय बताने जा रहे हैं जिसे अगर आप कृष्ण जन्माष्टमी की पूजा के दौरान करते हैं तो आपको प्रभु की विशेष कृपा मिलती है साथ ही आपकी सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती है….

• ज्योतिषियों की माने तो जन्माष्टमी के दिन घर पर गाय या बछड़े की मूर्ति लानी चाहिए। ये उपाय आपकी आर्थिक स्थिती में सुधार में सहायक होता है।

• जन्माष्टमी के दिन आपको सात कन्याओं को बुलाकर खीर खिलानी चाहिए। अगर कोई इसे आगे के पांच शुक्रवार तक लगातार करता है तो ऐसे माना जाता है इससे नौकरी और व्यापार में बढ़ोत्तरी होती है साथ ही आमदनी में भी बढ़ोतरी होती है।

• जन्माष्टमी पर पूजा के दौरान प्रभु के परिजात के फूल चढ़ाने चाहिए। इसके साथ ही शंख में दूध भरकर कान्हा जी को अर्पित करें। ऐसा करने से मां लक्ष्मी जी और भगवान कृष्ण जी की आप पर कृपा बनी रहती है।

• भगवान श्रीकृष्ण को जन्माष्टमी के मौके पर चांदी की बांसुरी अर्पित करनी चाहिए। वहीं जब पूजा संपन्न हो जाती है तो इस बांसुरी को तिजोरी या फिर पर्स में रख लें। इससे आपको धन लाभ होता है।

• जन्माष्टमी के दिन भगवान को 56 भोग लगाया जाता है ऐसा करने से देवकी नंदन प्रसन्न होते हैं साथ ही भक्तों की सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं।

• जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण के साथ ही शाम को तुलसी जी की पूजा करनी चाहिए। आपको ओम नमः वासुदेवाय मंत्र का जाप करते हुए 11 बार तुलसी जी परिक्रमा करनी चाहिए। ऐसा करने से आपको कर्ज से मु्क्ति मिलती है।

• इस दिन दूध में केसर मिलाकर रात 12 बजे श्री कृष्ण का अभिषेक करें। ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि तो आती ही है साथ ही आर्तिक स्थिति भी मजबूत होती है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending