बेहद ही चमत्कारी है ‘ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः’ मंत्र, इस दिन जरूर करें इसका जाप…

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः’ मंत्र को विष्णु भगवान के सबसे प्रमुख मंत्रों में से एक कहा जाता है और पुराणों में इस मंत्र का उल्लेख कई बार किया गया है। शारदा तिलक तन्त्रम कहते है कि ‘देवदर्शन महामंत्र् प्राधन वैष्णवगाम’ बारह वैष्णव मंत्रों में यह मत्रं प्रमुख हैं। इसी प्रकार ‘श्रीमद् भगवतम्’ के 12 अध्याय को इस मंत्र के 12 अक्षर के विस्तार के रूप में लिए गए है। इस मंत्र को मुक्ति का मंत्र कहा जाता है और मोक्ष प्राप्त करने के लिए एक आध्यात्मिक सूत्र के रूप में माना जाता है।
यह मंत्र ‘श्रीमद् भगवतम्’ का प्रमुख मंत्र है इस मंत्र का वर्णन विष्णु पुराण में भी मिलता है। ‘श्रीमद् भगवतम्’ में भी इस मंत्र को प्रमुख मंत्र बताया गया है और ऐसा कहा जाता है कि इस मंत्र का जाप करने से मुक्ति मिलती है और मोक्ष प्राप्त होती है। इसलिए कई लोग इसे मुक्ति मंत्र भी कहते हैं। ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः का जाप करते हुए हम भगवान विष्णु और श्रीकृष्ण को नमस्कार करते हैं और इनसे अच्छे जीवन की कामना की जाती हैं।

मंत्र – ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:’
मंत्र का अर्थ:
ओम – ओम यह ब्रंह्माडीय व लौकीक ध्वनि है।
नमो – अभिवादन व नमस्कार।
भगवते – शक्तिशाली, दयालु व जो दिव्य है।
वासुदेवयः – वासु का अर्थ हैः सभी प्राणियों में जीवन और देवयः का अर्थ हैः ईश्वर। इसका मतलब है कि भगवान (जीवन/प्रकाश) जो सभी प्राणियों का जीवन है।

मंत्र का महत्व-

ऊर्जा
शारीरिक ऊर्जा, मानसिक शांति और आध्यात्मिक ऊर्जा प्राप्त करने के लिए इस मंत्र का जाप करना उत्तम होता है। इस मंत्र का जाप करने से ऊर्जा की प्राप्ति आसानी से हो जाती हैं। ऊर्जा पाने हेतु आप इस मंत्र को दिन में दो बार प्रात और सायं काल 101 बार पढ़ें।
कार्य सफल
अगर आपका कोई कार्य सफल नहीं हो रहा है तो आप ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः का जाप जरूर करें। इस मंत्र का जाप करने से कार्य के सफल होने में जो बाधा आ रही हैं वो एकदम से दूर हो जाएगी। ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः का जाप आप रोज 21 बार करें।

ग्रहों की शांति
ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः मंत्र को पढ़ने से ग्रहों को शांत किया जा सकता है। इसलिए जिन लोगों की कुंडली में ग्रह शांत नहीं हैं वो लोग इस मंत्र का जाप जरूर करें। इस मंत्र को पढ़ने से ग्रह शांत हो जाते हैं और आप ग्रहों की मार से बच जाते हैं। ग्रहों को शांत करवाने हेतु आप इस मंत्र का जाप 1008 बार करें।सम्पूर्ण कामना पूर्ण
विष्णु जी के सभी मंत्रों में से ये मंत्र सबसे प्रमुख माना जाता है। इसलिए जो लोग इस मंत्र का जाप करते हैं विष्णु जी उनसे जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैं और उनकी हर कामना को पूर्ण कर देते हैं। अपनी कामना पूर्ण करवाने हेतु आप रोज इस मंत्र का जाप 101 बार करें और तब तक करें जब तक आपकी कामना पूर्ण ना हो जाए।
मोक्ष की प्राप्ति
मोक्ष प्राप्ति के लिए इस मंत्र का जाप जरूर करना चाहिए। इस मंत्र का जाप करने से सारे पाप भी नष्ट हो जाते हैं और स्वर्ग के द्वारा खुल जाते हैं। इसके अलावा जो लोग इस मंत्र का जाप करते हैं उनका मन सदा शांत रहता है। मोक्ष प्राप्ति के लिए आप इस मंत्र का जाप आप दिन में 101 बार करें

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending