क्या सच में कथावाचक चित्रलेखा ने अपने ड्राइवर मुसलमान से शादी रचाई है?? जानिए वायरल दावे का सच

सबसे छोटी उम्र की कथावाचक और लाखो अनुयायियों को अपना प्रशंसक बना लेनी वाली कथावाचक देवी चित्रलेखा की इन दिनों सोशल मीडिया पर कथित तौर पर बुर्का पहने हुए एक तस्वीर जमकर वायरल हो रही है। जिसमे दावा किया जा रहा है की एक मुसलमान युवक से शादी की है जो पहले उनका ड्राइवर था

एक फेसबुक पोस्ट मे लिखा गया है- “मोहतरमा चित्रलेखा का शौहर सही पढ़ा आप ने शौहर कभी चित्रलेखा का ड्राईवर था और मुस्लिम भी है, शादी के बाद इसने अपना नाम माधव राज रखा, ताकि कथा बेंचने में कोई दिक्कत न हो और धंधा आराम से चलता रहे, ऐसे लोगों का हिंदू धर्म से बहिष्कार करें।”

अनेक मीडिया रिर्पोट देखने के बाद हम ने पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर मोटिवेशनल स्पीकर देवी चित्रलेखा की नहीं है। एक बुर्कानशीं मॉडल की फोटो में देवी चित्रलेखा का चेहरा अलग से जोड़कर ये फोटो बनाई गई है। बता दें की देवी चित्रलेखा की शादी किसी मुसलमान से नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ के माधव तिवारी से हुई थी, जो कान्यकुब्ज ब्राह्मण हैं। सोशल मीडिया पर पिछले कई महीनों से लगातार देवी चित्रलेखा की बुर्के वाली तस्वीर और उनके मुसलमान से शादी करने का दावा पूरी तरह गलत और निराधार है।

जानिए सच्चाई
वायरल तस्वीर को रिवर्स सर्च किया तो हमें एक फैशन ब्लॉग पर यही तस्वीर मिली, जिसमे एक मॉडल ने ठीक वैसे ही परिधान और हिजाब पहन रखा है, जो वायरल तस्वीर में नजर आ रहा है। दोनों तस्वीरों में दीवार पर लगा वॉलपेपर भी एक ही है। साफ है कि मुस्लिम दुल्हनों के फैशन संबंधी एक लेख से ली गई तस्वीर में मॉडल का चेहरा हटाकर देवी चित्रलेखा का चेहरा लगा दिया गया है।

ये तस्वीर हमें एक फ्रांसीसी ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी मिली। तस्वीर में मॉडल ने मुस्लिम दुल्हन का जो लिबास पहन रखा है, वो यहां 47.99 यूरो यानी तकरीबन चार हजार रुपये में बिक रहा है। पिछले साल भी जब ये भ्रामक दावा वायरल हुआ था। उस वक्त देवी चित्रलेखा के आधिकारिक फेसबुक अकाउंट पर इसका खंडन किया गया था। 

खंडन करने वाली पोस्ट में लिखा था, “देवीजी का विवाह न किसी मुसलमान से हुआ है, ना ही वो एक ड्राइवर हैं। दिनांक 23 मई 2017 को गौसेवा धाम हॉस्पिटल के ही पावन प्रांगण में देवी चित्रलेखा जी का विवाह बिलासपुर, छत्तीसगढ़ के 'कश्यप गोत्रीय' कान्यकुब्ज ब्राह्मण परिवार में श्री अरुण तिवारी जी के सुपुत्र श्री माधव तिवारी जी के साथ हिंदू रीति-रिवाज़ों के साथ संपन्न हुआ।”  

चित्रलेखा के मीडिया को-ऑर्डिनेटर राहुल शर्मा तिवारी ने बताया, “पिछले साल कुछ यूट्यूबर्स ने देवी चित्रलेखा के प्रवचन के एक छोटे-से हिस्से को बिना संदर्भ के पेश कर दिया था जो बाद में वायरल हो गया था। इसके बाद से ही बहुत सारे लोग देवीजी को निशाना बनाने लगे और उनकी शादी मुसलमान से होने जैसी अनर्गल बातें करने लगे। हमने उस वक्त भी ऐसे कई वीडियोज की शिकायत करके उन्हें हटवाया था।”  

निष्कर्ष: साफ है कि देवी चित्रलेखा के मुस्लिम से शादी करने का दावा तो झूठा है । इस दावे के साथ जो फोटो शेयर की जा रही है, वो भी एडिटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से तैयार की गई है। असली तस्वीर मुस्लिम दुल्हनों के लिए परिधान का प्रदर्शन करती एक मॉडल की थी, जिसमें देवी चित्रलेखा का चेहरा लगा दिया गया है।

CLAIM REVIEW : कथावाचक चित्रलेखा ने अपने ड्राइवर मुसलमान से शादी रचाई

CLAIMED BY : फेसबुक यूजर

FACT CHECK : False

किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमसे संपर्क करें

अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं।

वॅाट्सऐप नंबर/ टेलीग्राम नंबर+919810553618
ईमेलV3newsindia@gmail.com
आप हमसे हमारे ईमेल आईडी V3newsindia@gmail.com या फिर वॅाट्सऐप / टेलीग्राम नंबर +919810553618 के जरिए संपर्क कर सकते हैं। किसी भी सुझाव या शिकायत के लिए V3newsindia@gmail.com पर ईमेल भेजें।



More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending