Pm मोदी के साथ मंच सांझा कर चुका इरफान धर्मांतरण के मामले में पाया गया दोषी, पाकिस्तान से भी जुड़े मिले तार

उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण का मुद्दा थमने का नाम नहीं ले रहा। रोजाना इस पर नए नए खुलासे हो रहे है। वहीं ATS आरोपियों की लगातार गिरफ्तारी कर रही है। इसी कड़ी मे मंगलवार को धर्मांतरण के मामले में एक और गिरफ्तारी की गई है। दरअसल, मंगलवार को महाराष्ट्र के बीड से मिनिस्ट्री ऑफ चाइल्ड वेलफेयर में इंटरप्रेटेटर (ट्रांसलेशन करने वाला) मे काम करने वाले इरफान ख्वाजा खान को गिरफ्तार किया गया है।

बता दें कि वही इरफान ख्वाजा खान है जिसने अब तक दो बार पीएम मोदी से मंच सांझा किया है जिसमे से एक सन 2017 और दूसरा 2020 का कार्यक्रम बताया जा रहा है। इन दोनो कार्यक्रमों में इरफान ने प्रधानमंत्री मोदी के भाषण को इशारों के जरिए मूक बधिर लोगों को समझाया था।

प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंच सांझा करने के मामले में यूपी ATS के IG जीके गोस्वामी का कहना है कि इरफान मिनिस्ट्री ऑफ चाइल्ड वेलफेयर में जिम्मेदार पद पर पोस्टेड था। हो सकता है वह किसी कार्यक्रम में PM के साथ शामिल हुआ हो। हमारी इन्वेस्टिगेशन में सामने आया है कि वह धर्मांतरण के मामले में शामिल था। उसकी भूमिका अहम है। फिलहाल इस मामले में अभी और भी जांच चल रही है।

मूक बाधिर बच्चो को गुमराह कर उनका धर्मांतरण करने वालो पर नकेल कसने वाली ATS ने मंगलवार को प्रेस नोट जारी कर बताया कि इरफान हिंदू और दूसरे धर्म के मूक-बधिर बच्चों को इस्लाम अपनाने के लिए प्रेरित करता था। बच्चों से दूसरे धर्म की बुराइयां करता था और उन्हें भड़काता था। यही नहीं मूक-बधिर बच्चों की सूची भी धर्मांतरण कराने वाले मौलाना उमर गौतम और जहांगीर आलम को उपलब्ध कराता था।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending