भारत ने इस्लामिक संगठनो को लगाई जमकर लताड़, कहा- हमारे आंतरिक मामलों मे किसी को दखल देने का अधिकार नहीं

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 48वें सत्र में भारत ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को जमकर लताड़ लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसे विश्व स्तर पर आतंकवादियों को खुलेआम समर्थन, प्रशिक्षण, फंडिंग और हथियार देने के लिए जाना जाता है। इसमें संयुक्त राष्ट्र की तरफ से प्रतिबंधित आतंकवादी भी शामिल हैं। पाकिस्तान राजकीय नीति के तौर पर खुल कर आतंकवादियों का समर्थन कर रहा है।

इसके साथ ही भारत ने ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (OIC) को कड़े शब्दो में साफ तौर पर कहा है कि भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने का किसी को कोई अधिकार नहीं है। बता दें OIC द्वारा लगातार कश्मीर पर बेतुके बयान देने के बाद भारत ने यह बयान दिया है। भारत ने कहा है कि काउंसिल को यह बात पता है कि पाकिस्तान मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है और भारत के भूभाग कर कब्जा किए हुए है।

भारत ने आगे कहा है कि OIC ने लाचार होकर खुद को पाकिस्तान द्वारा बंधक बनाए जाने की इजाजत दी है। लेकिन हम ये सब हरगिज बर्दाश्त नही करेंगे। OIC द्वारा कश्मीर मसले पर दिए गए बयान भारत से सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। भारत ने कहा है कि पाकिस्तान अपने एजेंडे के लिए OIC का इस्तेमाल करता रहा है। ऐसे में OIC के सदस्य देश यह तय करें कि वह पाकिस्तान को ऐसा करने की इजाजत देते रहेंगे या नहीं।

वहीं भारत ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख द्वारा की गई अनुचित टिप्पणियों पर निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी टिप्पणियां जमीनी हकीकत को नहीं दर्शाती हैं और मानवाधिकारों को बनाए रखने में किसी भी कमी को निष्पक्ष तरीके से संबोधित किया जाना चाहिए जिसका देश के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए। बता दें संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बेशलेट ने भारत में गैर-कानूनी गतिविधियां निवारण अधिनियम के इस्तेमाल और जम्मू-कश्मीर में ‘बार-बार’ अस्थायी रूप से संचार सेवाओं पर पाबंदी लगाए जाने को सोमवार को ‘चिंताजनक’ बताया था।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending