लखीमपुर खीरी में प्रशासन ने फिर लगाई इंटरनेट सेवाओं पर रोक, मौन व्रत लेकर अनशन पर बैठे सिद्धू

तकरीबन छह दिन पहले रविवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुए घटनाक्रम का मामला गर्माता ही जा रहा है। जो की थमने का नाम नहीं ले रहा विपक्षी नेताओं का लगातार आना जाना जारी है। इसी बीच तनाव बढ़ने की स्थिति को भांपते हुए योगी सरकार ने एक बार फिर लखीमपुर खीरी में कुछ दिनो के लिए इंटरनेट सेवाएं रोक दी हैं।

बता दें प्रियंका समेत कई विपक्षी नेता अब तक लखीमपुर खीरी पहुंच चुके है और वहां पीड़ित परिवारों से मिल रहे है। इसी कड़ी में अब नवजोत सिंह सिद्धू भी लखीमपुर खीरी पहुंच चुके है। जहां वह लगातार पीड़ित किसानों से व उनके परिजनों से मिल रहे है। खबरों की माने तो नवजोत सिंह सिद्धू अब मौन व्रत अनशन पर बैठ चुके है।

माना जा रहा है की सिद्धू निघासन में पत्रकार रमन कश्यप के घर पर मौन अनशन पर बैठ गए है। सिद्धू ने कहा कि जब तक मंत्री के बेटे गिरफ्तार नहीं हो जाते, अनशन से नहीं हटेंगे। पत्रकार के घर पर अपना बिस्तर लगाकर मौन धारण कर अनशन पर बैठ गए। वहीं कांग्रेस पर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने निशाना साधा है। 

उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर कांग्रेस का नाम लिए बिना लिखा है कि जो लोग या पार्टियां यह सोच रही हैं कि ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ के सहारे विपक्ष की तुरंत वापसी होगी वे गलतफहमी में हैं। उनको निराशा ही हाथ लगेगी। उन्होंने आगे लिखा है कि दुर्भाग्य से ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ की जड़ों और उनकी संगठनात्मक संरचना में बड़ी कमियां हैं। फिलहाल इस समस्या को कोई समाधान भी नहीं है।

गौरतलब हो की उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में तीन अक्तूबर को हुई हिंसा में आठ लोगों की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई जारी है। जिस पर बीते दिन ही सर्वोच्च न्यायालय ने कहा था कि वह लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की जांच में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से संतुष्ट नहीं है।

बता दें लखीमपुर खीरी में शुक्रवार देर शाम को फिर से इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। वहीं इससे पहले भी इंटरनेट बंद कर दिया गया था, लेकिन बाद में बहाल कर दिया गया था। शुक्रवार देर शाम को फिर से इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending