IMA ने किया आयुर्वेद का समर्थन श्री श्री रविशंकर को पत्र लिखकर, मांगा मार्गदर्शन

पिछले दिनों बाबा रामदेव के साथ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के विवाद ने काफी काफी तुल पकड़ लिया था। रामदेव और पतंजलि के खिलाफ देश भर के डॉक्टरों ने जगह जगह जमकर विरोध प्रदर्शन भी किया। देश के कोने कोने से बाबा रामदेव को गिरफ्तार करने की मांग उठने लगी। सभी डॉक्टर रामदेव की बातों का विरोध करने के साथ ही आयुर्वेद के सिद्धांत को बार-बार खारिज करते रहे। अब इसी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) की तरफ से श्रीश्री रविशंकर से मार्गदर्शन करने के लिए पत्र लिखा गया है।आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ जेए जयलाल ने श्री श्री रविशंकर को पत्र लिख कर कहा, “हम जानते हैं कि आप आयुर्वेद की शुद्धता के पक्षधर हैं। आपके द्वारा आशीर्वादित आर्ट ऑफ लिविंग (Art of living) सत्र दुनिया भर में लाखों लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत रहा है। आपकी आध्यात्मिक शिक्षाओं ने मनुष्य में अच्छाई जगाई है।”
बेंगलुरु स्थित आर्ट ऑफ लिविंग के श्री श्री रविशंकर को लिखे एक पत्र में, IMA ने कहा है कि वह स्वास्थ्य और जीवन पर पाठ के लिए वेलनेस गुरु के साथ जुड़ना चाहते हैं, उनका मार्गदर्शन चाहते हैं। ऐसे समय में जब बाबा रामदेव और IMA के बीच लगातार बयानबाजी जारी है। यह पत्र अत्यधिक महत्व रखता है, क्योंकि आर्ट ऑफ लिविंग भी अपने आयुर्वेदिक उत्पाद तैयार करती है, जिसका सार भारत की प्राचीन आयुर्वेदिक ज्ञान है।

रामदेव के बयान पर बोले रविशंकर
आयुर्वेद बनाम एलोपैथी के विवाद पर श्री श्री रविशंकर ने जोर देकर कहा कि देश में दोनों आयुर्वेद और एलोपैथी जरूरी है। अगर आयुर्वेद से इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है तो एलोपैथी भी इमरजेंसी में काफी मददगार है। ऐसे में किसी को भी कम आंकना गलत है। बाबा रामदेव के बयान पर उन्होंने कहा कि जोश में दिया गया बयान है। वे मानते हैं कि इस पर अब ज्यादा विवाद नहीं होना चाहिए क्योंकि रामदेव ने भी अपना बयान वापस ले लिया है।

गौरतलब हो की इससे पहले आईएमए का योग गुरु बाबा रामदेव के इस दावे को लेकर विवाद रहा है कि एलोपैथिक अस्पताल अक्सर पतंजलि की आयुर्वेदिक दवाओं का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन अब, आईएमए ने कहा कि उसने श्री श्री रविशंकर के साथ भारत के शीर्ष डॉक्टरों की बैठकों की एक श्रृंखला की योजना बनाई थी, लेकिन कोरोना महामारी तेज प्रसार के कारण बैठकें रद्द कर दी गईं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending