IIT दिल्ली ने लॉन्च की कोरोना टेस्ट किट, कीमत है बेहद कम

शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय धोत्रे (Shri Sanjay Dhotre) ने शुक्रवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (Indian Institute of Technology) दिल्ली द्वारा विकसित की गई रैपिड एंटीजन कोरोना टेस्ट किट का शुभारंभ किया। रैपिड एंटीजन टेस्ट किट को संस्थान के सेंटर फॉर बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर डॉ. हरपाल सिंह (Dr. Harpal Singh) के नेतृत्व में आईआईटी दिल्ली के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित किया गया है।

आईआईटी द्वारा विकसित की गई कोरोना टेस्ट किट के शुभारंभ के मौके पर शिक्षा राज्य मंत्री श्री संजय धोत्रे ने कहा कि,” मुझे विश्वास है कि यह तकनीक देश में कोविड परीक्षण उपलब्धता में क्रांति लाएगी। मुझे यह जानकर खुशी हुई कि इस किट को पूरी तरह से आइआइटी दिल्ली में आंतरिक संसाधनों का उपयोग करके विकसित किया गया है।”

किट में इस्तेमाल की गई प्रौद्योगिकी और इसका निर्माण 100 फीसद स्वदेशी है। किट का उपयोग सार्स-सीओवी-2 एंटीजन के इन विट्रो गुणात्मक अनुसंधान करने के लिए किया जाता है। किट द्वारा की जाने वाली जांच कोरोना वायरस एंटीजन के लिए विशिष्ट मोनोक्लोनल एंटीबाडी पर आधारित है।

किट की संवेदनशीलता- 90 फीसद, विशिष्टता- 100 फीसद और सटीकता- 98.99 फीसद के साथ शुरुआती सीटी मान (14 से 32 के बीच) के लिए यह परीक्षण उपयुक्त पाया गया है। आइसीएमआर ने इसे प्रमाणित किया है। ये इस तरह की अभी तक उपलब्ध सभी परीक्षण किट से सस्ती होगी। इस किट से प्राप्त परिणाम गुणात्मक आधारित हैं और खुली आंखों से देखने पर भी इसका अनुमान लगाया जा सकता है।

सेंटर फॉर बायोमेडिकल इंजीनियरिंग (Center for Biomedical Engineering) के प्रोफेसर डॉ. हरपाल सिंह ने कहा कि यह सामान्य जनसंख्या जांच और कोविड-19 के निदान के लिए उपयुक्त है। सार्स-सीओवी-2 एंटीजन रैपिड परीक्षण मानव नाक की स्वैब, गले की स्वैब और गहरे लार के नमूनों में सार्स-सीओवी-2 एंटीजन के गुणात्मक निर्धारण के लिए एक कोलाइडल गोल्ड संवर्धित दोहरे एंटीबॉडी सैंडविच प्रतिरक्षा है।

इसके साथ ही आइआइटी के निदेशक प्रोफेसर वी रामगोपाल राव (Professor V Ramgopal Rao, Director, IIT) ने कहा कि, ” आइआइटी दिल्ली ने जुलाई 2020 में 399 रुपये की आरटीपीसीआर किट लांच की थी, जिससे आरटीपीसीआर परीक्षण लागत को मौजूदा स्तर पर लाने में सहायता मिली। इस संस्थान में विकसित तकनीकों का उपयोग करते हुए अब तक 80 लाख से अधिक पीपीई किट की आपूर्ति की जा चुकी है। इस एंटीजन आधारित रैपिड परीक्षण किट के लांच होने से हमें ग्रामीण क्षेत्रों के लिए कोरोना जांच को आसान और सस्ता बनाने की उम्मीद है।” 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending