अगर आप भी एटीएम से निकालने जा रहे हैं पैसे तो जान लीजिए नए नियम

भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने गुरुवार ( 10, जून 2021 ) को एटीएम से पैसा निकालने के नियमों में कुछ बड़े बदलाव किए है। जिसके तहत अब बैंक ग्राहक अपने बैंक के एटीएम से हर महीने पांच मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन सहित) सुविधा का लाभ ले सकते हैं। इसके बाद के विड्रॉल पर उन्हें शुल्क भरना होगा। साथ ही अगर आप दूसरे बैंक के एटीएम से पैसे निकालते हैं तो मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन सहित) के लिए आपको तीन मौके मिलेंगे। हालांकि ये शहरों पर निर्भर होगा। जो लोग मेट्रो शहर में रहते हैं उन्हें मुफ्त में तीन कैश निकासी की सुविधा मिलेगी। जबकि नॉन मेट्रो शहरों में पांच लेन-देन की अनुमति होगी। आरबीआई ने ये फैसला मुख्य कार्यकारी, भारतीय बैंक संघ की अध्यक्षता में जून 2019 में गठित समिति की सिफारिशों के आधार पर लिया। ऐसे में अगर आप एटीएम से पैसे निकाले जा रहे हैं तो आपको नए नियमों का पता होना जरूरी हैं, नहीं तो आपको ज्यादा शुल्क चुकाना पड़ सकता है।

ये हैं नए नियम-

– आरबीआई के नए सर्कुलर के अनुसार एक बैंक ग्राहक को प्रत्येक एटीएम नकद निकासी के लिए तय मुफ्त लेनदेन सीमा की छूट होगी। इससे ज्यादा के लेन-देन पर 21 रुपए का भुगतान करना होगा। अभी यह शुल्क 20 रुपए है। यह नियम अगले साल जनवरी से लागू होगा। 
– आरबीआई ने वित्तीय लेनदेन के लिए 15 रुपए से 17 रुपए तक और सभी केंद्रों में गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 5 रुपए से 6 रुपए तक प्रति लेनदेन इंटरचेंज शुल्क में वृद्धि की अनुमति दी है यह 1 अगस्त 2021 से प्रभावी होगा।
– आरबीआई के नए नियम के तहत अब बैंक ग्राहक अपने बैंक के एटीएम से हर महीने पांच मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन सहित) सुविधा का लाभ ले सकते हैं। इसके बाद के विड्रॉल पर उन्हें शुल्क भरना होगा।
– अगर आप दूसरे बैंक के एटीएम से पैसे निकालते हैं तो मुफ्त लेनदेन (वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन सहित) के लिए आपको तीन मौके मिलेंगे। हालांकि ये शहरों पर निर्भर होगा। जो लोग मेट्रो शहर में रहते हैं उन्हें मुफ्त में तीन कैश निकासी की सुविधा मिलेगी। जबकि नॉन मेट्रो शहरों में पांच लेन-देन की अनुमति होगी। 
– आरबीआई ने बैंकों को मुफ्त एटीएम लेनदेन सीमा से अधिक शुल्क बढ़ाने की अनुमति दी है। बैंकों को इंटरचेंज शुल्क की भरपाई कर और लागत में सामान्य वृद्धि को देखते हुए ग्राहक शुल्क में बढ़ोत्तरी को मंजूरी दी गई है। ऐसे में प्रति लेनदेन 21 रुपए तक लिया जा सकता है। यह वृद्धि 1 जनवरी, 2022 से प्रभावी होगी।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending