मैं तालिबान से हाथ जोड़कर अपील करता हूं कि भारत के मुसलमानों को बख्श दें : केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी

शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने तालिबान से भारत के मुसलमानो को बख्शने की अपील करते हुए कहा की इस देश में धर्म के नाम पर चरमपंथी अत्याचारों जैसा कुछ नहीं है, न बम है न बंदूक। नकवी ने कहा कि भारत में केवल संविधान का पालन किया जाता है, और यहां की मस्जिदों में पूजा करने वालों को गोलियों और बमों से नहीं मारा जाता है, न ही लड़कियों को स्कूल जाने से रोका जाता है। 

बता दें बीबीसी उर्दू के साथ एक साक्षात्कार में, तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कहा था, “हमें कश्मीर, भारत या किसी अन्य देश में मुसलमानों के लिए अपनी आवाज उठाने का भी अधिकार है।” जिस पर एएनआई समाचार एजेंसी के साथ एक साक्षात्कार में, अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, मैं उनसे (तालिबान से) हाथ जोड़कर अपील करता हूं कि भारत के मुसलमानों को बख्श दें।

यहां मस्जिदों में नमाज पढ़ने वालों पर गोलियों और बमों से हमला नहीं किया जाता है। यहां लड़कियों को स्कूल जाने से नहीं रोका जाता, उनके सिर-पैर नहीं काटे जाते। नकवी ने कहा, “इस देश की सरकारों का ग्रंथ संविधान है और देश उसी पर चलता है।”नकवी ने संकेत दिया कि भारत और अफगानिस्तान में शासन करने के तरीके में काफी अंतर है और इसलिए तालिबान इस देश में मुसलमानों के लिए बोलने से बचे तो बेहतर होगा। बता दें हाल ही में तालिबान के एक प्रवक्ता ने दावा किया कि समूह के पास कश्मीर के मुसलमानों के लिए अपनी आवाज उठाने का “अधिकार” है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending