अमेरिका में तीन दिवसीय होने जा रहे धार्मिक सम्मेलन पर हिंदुओ ने जताया कड़ा ऐतराज, कार्यक्रम को बताया हिंदू विरोधी

अमेरिका में हिंदुत्व पर एक बड़ा सम्मेलन होने जा रहा है। यह सम्मेलन 10 से 12 सितंबर तक आयोजित होगा। 10-12 सितंबर को होने वाले तीन दिन के इस सम्मेलन पर अमेरिका में हिंदू समुदाय ने आक्रोश जताया है। इसको लेकर विरोध भारत में भी शुरू हो गया है। सम्मेलन की निंदा करते हुए एक प्रमुख हिंदू संगठन की अमेरिकी शाखा ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम हिंदू विरोधी घृणा बढ़ाते हैं और पश्चिमी देशों में इस समुदाय के खिलाफ हिंसा को भड़काते हैं।

हिंदू स्वयंसेवक संघ (एचएसएस), यूएसए ने बुधवार को एक बयान में कहा कि ”वैश्विक हिंदुत्व को खत्म करने विषय पर तथाकथित सम्मेलन भारतीय राजनीतिक कार्यकर्ता आयोजित कर रहे हैं, जिसमें कम्युनिस्ट पार्टी के कई सदस्य शामिल हैं। अमेरिकी अकादमिक संस्थानों में कुछ विभागों और लोगों ने इसका समर्थन किया है।” 

संघ ने कहा, ”हम ऐसे कार्यक्रमों की कड़ी निंदा करते हैं जो हिंदुओं से घृणा की भावना को बढ़ावा देते हैं तथा पश्चिम देशों में अल्पसंख्यक हिंदू आबादी के खिलाफ हिंसा को भड़काते हैं।” इसके साथ ही दुनियाभर के हिंदू समुदाय के सदस्यों ने सम्मेलन के आयोजकों द्वारा हिंदू समुदाय के खिलाफ हिंसा के इस आह्वान पर निराशा जतायी है। 

इसके साथ ही तमाम हिंदू संगठनों ने सम्मेलन के सह-प्रायोजकों से ऐसे कार्यक्रमों के लिए अपने संस्थानों का समर्थन वापस लेने और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाना बंद करने का अनुरोध किया। वहीं सम्मेलन के आयोजकों ने एक बयान में कहा कि वह सम्मेलन करने जा रहे हैं। उन्होंने अपनी पहचान उजागर न करने का अनुरोध किया है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending