DELHI-NCR समेत कई राज्यों में भारी बारिश, टूटा 11 साल पुराना रिकॉर्ड, पानी से जलमग्न हुई सड़के, 3 से 4 डिग्री तक लुढ़का पारा

हफ्ते के आखिरी दिन शनिवार को सुबह की शुरुआत झमाझम बारिश के साथ हुई। राजधानी दिल्ली और एनसीआर के कई इलाकों में हुई तेज बारिश के बाद पानी भरने (Waterlogging) लगा है। सड़कों के जलमग्न होने की तस्वीरें और वीडियोज भी सामने आ रही हैं। दिल्ली में इस साल मानसून की बारिश ने 11 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया है। 2010 के बाद यह पहली बार है, जब राष्ट्रीय राजधानी में बारिश का स्तर 1000 मिलीमीटर को पार कर गया हो।

बिजली की तेज गड़गड़ाहट औऱ तेज हवाओं के बीच पारा भी 3 से 4 डिग्री तक लुढ़क गया है। बता दें, मौसम विभाग ने पहले ही अनुमान लगाया था कि सितंबर में इस बार 10 फीसदी ज्यादा बारिश देखने को मिल सकती है। जबकि अगस्त में 24 फीसदी तक कम बारिश रिकॉर्ड की गई है। मौसम विभाग (IMD) की ओर से दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गुरुग्राम और आस-पास के इलाकों में आज (शनिवार) हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना जताई थी।

मौसम विभाग के ताजा बयान के अनुसार दिल्ली एनसीआर और उससे सटे हुए इलाके जैसे बहादुरगढ़, गुरुग्राम, लोनी देहात, हिंडन एएफ स्टेशन, गाजियाबाद, इंदिरापुरम, छपरौला, रोहतक, चरखी दादरी, मट्टनहेल, झज्जर समेत कई स्थानों पर आने वाले कुछ घंटों तक ऐसी ही बारिश जारी रहेगी। मौसम विभाग ने हरियाणा और राजस्थान में भी बारिश की संभावना जताई है। वहीं, पंजाब में भी कई दिनों से कमजोर पड़ा मॉनसून (Monsoon) फिर एक्टिव होने जा रहा है।

मौसम विभाग ने पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ क्षेत्रों में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश होने का अनुमान जताया है। स्काईमेट वेदर के वाइस प्रेसिडेंट ने कहा कि जलवायु परिवर्तन के चलते मानसून पैटर्न में बदलाव हो रहा है। अब सिर्फ 24 घंटे में 100 मिमी तक बारिश हो रही है, पहले इतनी बारिश 10 से 15 दिन में होती थी। ऐसी बारिश से ग्राउंडवॉटर रिचार्ज नहीं होता और निचले क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति हो जाती है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending