क्या आपने कभी सोचा है कि मृत्यु से पहले इंसान के साथ क्या होता है वह कैसा महसूस करता है? अगर नही तो पढ़िए पूरी खबर

मृत्यु वह अटल व कटु सत्य है जिसे हम मे से कोई स्वीकार नहीं करना चाहेगा। किंतु सत्य तो यह भी है की जो इस धरती पर आया है वह एक ना एक दिन अवश्य जायेगा। इस संसार में कोई भी अमर नही है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि मृत्यु होने से पहले एक इंसान के साथ क्या-क्या होता है, वह कैसा महसूस करता है? दरअसल मृत्यु को प्राप्त होने से पहले मनुष्य को कई स्टेज से गुजरना होता है। कई बार तो मृत्यु को आरामदायक बनाने के लिए मेडिकल सहायता की जरूरत पड़ती है।
यूनाइटेड किंगडम के न्यूकैसल हॉस्पिटल में कार्यरत डॉ. कैथरीन मैनिक्स ने इस विषय पर स्वयं एक पुस्तक sciencefocus.com प्रकाशित की है। जिसमे उन्होंने बताया है की मृत्यु से पहले एक इंसान कैसा महसूस करता है। उनके इस लेख के मुताबिक, जब किसी इंसान की मृत्यु होने वाली होती है तो तब उस व्यक्ति के दिल की धड़कनें बिल्कुल धीमी पड़ जाती है, ब्लड प्रेशर काफी नीचे गिर जाता है, शरीर ठंडा पड़ने लगता है और उसके नाखून धुंधले पड़ जाते हैं। ब्लड प्रेशर कम होने के कारण शरीर के अंग ठीक से काम करना बंद कर देते हैं।
उसका कुछ भी खाने-पीने का मन नहीं करता, चाहे उसके सामने उसका मनपसंद खाना ही क्यों न हो। जैसे-जैसे मृ्त्यु नजदीक आती है, वैसे-वैसे उसकी शारीरिक ऊर्जा कम होती रहती है। आमतौर पर अच्छी नींद लेने से इंसान को ऊर्जा मिलती है लेकिन जब किसी की मौत नजदीक हो तो उसे ठीक से नींद भी नहीं आती है और अगर आती भी तो उसके शरीर को जरूरी ऊर्जा नहीं मिल पाती। 
इतना ही हीं, मौत की दहलीज पर खड़े शख्स को बहुत बेचैनी होने लगती है और बेहोश होने जैसी कंडीशन हो जाती है। मृत्यु के नजदीक पहुंच चुका व्यक्ति तेज-तेज और आवाज करते हुए सांसें लेने लगता है। फिर कुछ देर और बाद सांस लेने की गति काफी धीमी हो जाती है और फिर अंत में उसकी सांसें थम जाती हैं। सांसें रुकने के कुछ ही देर बाद उसकी हृदय गति भी पूरी तरह से रुक जाती है क्योंकि अब उसमें ऑक्सीजन की मात्रा पूरी तरह से खत्म हो चुकी होती है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending