हरीश रावत ने कैप्टन अमरिंदर पर ली चुटकी, कहा – यूं ही कोई बेवफा नहीं होता, कुछ तो मजबूरियां जरूर रही होंगी

पंजाब कांग्रेस में चल रही सियासी खींचतान के बीच आज पंजाब में पार्टी के पूर्व प्रभारी हरीश रावत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। प्रेस कॉन्फ्रेंस में हरीश रावत ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की ओर से कांग्रेस में अपमानित होने का आरोप लगाए जाने को गलत ठहराया है। पूर्व पंजाब सीएम के आरोपों पर राज्य के प्रभारी हरीश रावत ने कहा, 'ऐसी रिपोर्ट्स में कोई तथ्य नहीं है कि कांग्रेस ने कैप्टन अमरिंदर सिंह का अपमान किया है।'

हरीश रावत ने कहा कि ऐसा लगता है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह पर कोई दबाव है। रावत ने कहा कि बीजेपी जिसको पंजाब के किसान, पंजाब के लोग पंजाब का विरोधी मानते हैं, वह अमरिंदर सिंह को मुखौटे के रूप में इस्तेमाल करना चाहते हैं। रावत ने आगे कहा, उन्हें एक बार फिर से विचार करना चाहिए और किसी भी तरह से भाजपा की मदद करने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर को सीधे तौर पर या फिर अप्रत्यक्ष तौर पर भाजपा की मदद नहीं करनी चाहिए।

हरीश रावत ने आगे कहा कि पार्टी ने अमरिंदर सिंह का कभी अपमान नहीं किया। उन्हें हर फैसले के बारे में जानकारी दी गई थी। हरीश रावत ने कहा, "अमरिंदर सिंह ने कहा कि मुझे सीएलपी की बैठक के बारे में जानकारी नहीं दी गई, लेकिन मैं सच कहूं तो मैं खुद तीन दिनों तक अमरिंदर सिंह से मिलने की कोशिश करता रहा, लेकिन वह नहीं मिले।" रावत ने कहा कि अमरिंदर को पार्टी के हर फैसले के बारे में पूरी जानकारी थी।

हरीश रावत ने कहा कि अब तक कांग्रेस ने जो भी किया है, वह कैप्टन अमरिंदर सिंह के सम्मान और गरिमा को बचाने के लिए ही किया है। इसके अलावा 2022 के विधानसभा चुनावों में पार्टी जीत की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए फैसले लिए गए हैं। इससे पहले गुरुवार को भी हरीश रावत ने कैप्टन अमरिंदर सिंह पर सीधा हमला बोलते हुए कहा था कि यूं ही कोई बेवफा नहीं होता... कुछ तो मजबूरियां जरूर रही होंगी। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending