हरीश रावत ने सिद्धू के सलाहकारो पर सख्त कार्रवाई का दिया आदेश, कहा- जांच के बाद होगी कड़ी कार्रवाई, माफी की कोई जगह नही

पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार प्यारे लाल गर्ग और मलविंदर सिंह माली की पाकिस्तान और कश्मीर पर टिप्पणी को लेकर दोनों सलाहकारों पर गाज गिर सकती है। इस बात का इशारा खुद पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने दिया है। रावत ने सोमवार को कहा कि उनके बयान आशंकाओं से भरे हैं, लेकिन अगर उन्होंने यह बयान दिया है तो कार्रवाई की जाएगी।

हरीश रावत ने आगे कहा, “ये सलाहकार कांग्रेस द्वारा नियुक्त नहीं किये गए हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने इन्हें अपने स्तर से नियुक्त किया है। अगर ऐसा कोई व्यक्ति निजी राय जाहिर करता है तो इससे पार्टी का क्या संबंध है? इसके बाद भी हम इसकी जांच करा रहे हैं। मैंने सिद्धू जी और कुछ अन्य लोगों से भी जानकारियां मांगी थीं। मुझे बताया गया कि बयान को राजनीतिक फायदे के लिए तोड़ा-मरोड़ा जा सकता है।”

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि मैं पार्टी की तरफ से साफ करना चाहता हूं कि जम्मू और कश्मीर भारत का हिस्सा हैं। किसी को भी इस मसले पर किसी तरह की आशंका नहीं हो सकती है। हरीश रावत ने कहा कि इस बयान को राजनीतिक फायदने के लिए तोड़ा-मरोड़ा भी जा सकता है। ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव में इसका फायदा उठाया जा सके। लेकिन अगर उन्होंने ऐसा बयान दिया है तो इसपर कार्रवाई होगी।

गौरतलब हो की प्यारे लाल गर्ग ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा की गई पाकिस्तान की आलोचना पर सवाल उठाया था। दूसरी तरफ, माली ने संविधान के अनुच्छेद 370 को रद्द करने के मुद्दे पर बात की थी, जिसके तहत तत्कालीन राज्य जम्मू-कश्मीर को एक विशेष दर्जा मिला हुआ था। उन्होंने कथित तौर पर कहा था कि अगर कश्मीर भारत का हिस्सा था तो धारा 370 और 35ए हटाने की क्या जरूरत थी।

मलविंदर सिंह माली पर इंदिरा गांधी का कथित रूप से विवादित कार्टून सोशल मीडिया पर शेयर करने का भी आरोप है। इसपर हरीश रावत ने कहा कि वह लोकप्रिय नेताओं में एक थीं। हम सब के लिए मां की तरह थीं। अगर उनके बारे में कुछ अपमानित कहा गया है तो हम इसकी निंदा करेंगे, अगर जानकारी इकट्ठा करने पर यह साबित होता है तो कार्रवाई की जाएगी। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending