हरिद्वार महाकुंभ : मेले में यातायात नियमों की अनदेखी पड़ेगी महंगी

हरिद्वार महाकुंभ के शुरू होने में अब एक महीने से भी कम का समय रह गया हैं. कुंभ मेले की की तैयारियां जोरों पर हैं और उत्तराखण्ड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार का दावा हैं कि जल्द ही कुंभ की तैयारिया पूरी हो जाएंगी. कोरोना के इस काल में कुंभ का आयोजन सरकार के लिए चुनौती तो हैं ही साथ ही सरकार को हर बात का ध्यान रखना पड़ रह हैं. इसी में से एक हैं यातायात नियम.  हरिद्वार महाकुंभ का आयोजन 27 फरवरी से शुरू होने जा रहा हैं जहां देश औऱ दुनियाभर से श्रद्धालु कुंभ मेले में स्नान करने के लिए आएंगे. यहां आने वाले श्रद्धालुओं को यातायात नियमों का पालन करना होगा और अगर कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं ने यातायात के नियम तोड़े तो उन्हें खामियाजा भुगतना होगा. खबर है कि परिवहन विभाग ने कुंभ के लिए अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं. इसके तहत जहां एक ओर जहां श्रद्धालुओं की टैक्स संबंधी सुविधाओं के लिए छह अस्थायी चेकपोस्ट बनाई जा रही हैं तो दूसरी ओर 126 जवानों की भी तैनाती की जाएगी. आपको बता दे कि कुंभ मेले में परिवहन विभाग की छह प्रवर्तन टीमें तैनात रहेंगी जो कि यातायात नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेंगी. इसलिए अगर आप कुंभ मेले में जाने की सोच रहे हैं तो यातायात नियमों के पालन के साथ – साथ कोरोना गाइडलाइन का भी पालन अवश्य करें.

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending