हरिद्वार महाकुंभ : मेले को लेकर इंटरस्टेट कॉर्डिनेशन की मीटिंग का हुआ आयोजन, लिए गए अहम फैसले

कुंभ मेले का आयोजन इस बार धार्मिक नगरी हरिद्वार में होने जा रहा हैं. इसको लेकर तैयारियां जोरों पर हैं. 1 अप्रेल से कुंभ मेले की शुरवात हो रही है जहां इस बार कुंभ मेला 30 अप्रेल तक चलेगा. दरअसल, कोरोना को ध्यान में रखते हुए इस बार कुंभ मेले की अवधि घटाई गई है और इस बार महाकुंभ केवले 1 महीने का ही होगा. कुंभ मेले की तेयारियों के बीच इंटरस्टेट कोआर्डिनेशन बैठक का आयोजन किया गया जहां इस बैठक में फैसला लिया गया कि शाही स्नान के दिन वीआईपी मूवमेंट पर रोक रहेगी. बैठक में बताया गया कि  अगर कोई भी VVIP कुंभ मेले में स्नान के लिए आना चाहता है तो वे एक आम श्रद्घालु की तरह आ सकते है. यानी कि वीआईपी को भी सामान्य नागरिक बनकर गंगा स्नान करना पड़ेगा.  इसके अलावा  इस कोआर्डिनेशन बैठक में सभी राज्यों से आश्वासन दिया गया है कि जो भी तीर्थ यात्रा श्रद्धालु उनके राज्य को मेले में आए वे कोरोना गाइडलाइन का पालन जरूर करे क्योकि ये समय की मांग है. आपको बता दें कि हरिद्वार कुंभ मेले में कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट वाले व्यक्तियों को ही एंट्री मिलेगी. बिना कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट के किसी को भी एंट्री नहीं मिल पाएगी. इसके अलावा इस बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि प्रत्येक राज्य एवं एजेंसी में एक वरिष्ठ अधिकारी को को मेले में समन्वय हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा.

गौरतलब है कि वर्तमान में कोरोना काल चल रहा है और इसी को देखते हुए कुंभ मेले की अवधि घटाई गई है. हरिद्वार में आयोजित होने जा रहे कुंभ मेले में कोरोना गाइडलाइन का पालन यहां आने वाले श्रद्धालुओं को करना ही होगा क्योकि ये समय की मांग है. 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending