सरकार ने लिया बड़ा फैसला, अब Covishield वैक्सीन की केवल एक डोज ही लगेगी, जानें वायरल दावे का सच

कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान जारी है। देश में 3 कोरोना वैक्सीन – कोविशील्ड, कोवैक्सिन और रूस के स्पुतनिक वी लगाई जा रही हैं। इन तीनों ही वैक्सीन के दो डोज लगाए जा रहे हैं। हालांकि वैक्सीनेशन प्रोटोकॉल में बदलाव करते हुए सरकार ने हाल ही में टीके की दो डोज के बीच के अंतराल को 6-8 हफ्तों से बढ़ाकर 12-16 हफ्ते का कर दिया है। वहीं, पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हो रही है कि अब कोविशील्ड वैक्सीन का एक ही डोज लगाया जाएगा। जिसने लोगों में काफी भ्रम की स्थिति को जन्म दे दिया है। आइए जानते हैं क्या है यह वायरल पोस्ट और इसके दावों में कितनी सच्चाई है?

वायरल हो रहा पोस्ट
टीकाकरण को लेकर एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि सरकार ने अब कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने के नियमों में बड़ा बदलाव करने का फैसला किया है। अब से लोगों को कोविशील्ड वैक्सीन की दो डोज की जगह सिर्फ एक डोज ही दी जाएगी। वायरल पोस्ट के दावे के मुताबिक- “हाल ही में वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन के दौरान पाया है कि कोविशील्ड वैक्सीन की एक खुराक ही शरीर में पर्याप्त मात्रा में एंटीबॉडीज निर्मित कर देती है। यह एंटीबॉडीज कोरोना संक्रमण से सुरक्षा देने में पर्याप्त हैं। कोविशील्ड की एक खुराक से ही कोरोना को मात दिया जा सकता है।”

पीआईबी का फैक्ट चेक
सरकार ने साफ किया कि ऐसी खबरें निराधार हैं।नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने कहा कि कोविशील्‍ड के निर्धारित डोज में कोई बदलाव नहीं है। इसका दो डोज ही होगा। कोविशील्‍ड के पहले डोज के बाद इसका दूसरा डोज 12 सप्‍ताह के बाद दिया जाना है।उन्‍होंने कहा कि वैक्‍सीन के डोज को लेकर यही बात कोवैक्‍सीन पर भी लागू होती है। इस वैक्‍सीन की भी दो डोज लेनी जरूरी है। इसकी दूसरी डोज 4-6 सप्‍ताह में लेनी है। उन्‍होंने स्‍पष्‍ट किया कि कोविड-19 वैक्‍सीनेशन को लेकर SOP में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इसके अलावा दो अलग वैक्सीन को लेकर भी डॉ पॉल ने साफ किया कि प्रोटोकॉल के हिसाब से अभी एक व्यक्ति को पहला और दूसरा डोज एक ही वैक्सीन का लेना है।

कोरोना वैक्सीन के नए नियम
टीकाकरण को लेकर बनाए गए सरकारी पैनल ने कोविशील्ड वैक्सीनेशन की डोज के अंतराल को बढ़ाकर 12-16 हफ्ते करने का सुझाव दिया, जिसे अब केंद्र सरकार ने स्वीकार कर लिया है। नए नियमों के मुताबिक अब कोविशील्ड वैक्सीनेशन की पहली डोज के बाद 12-16 हफ्ते के बाद दूसरी डोज देने का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा हाल ही में सरकार ने स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी टीकाकरण कराने की अनुमति दे दी है। 

ऐसे करें फैक्ट चेक
अगर आपको भी कोई ऐसा मैसेज मिलता है तो फिर आप भी उसको पीआईबी के पास फैक्ट चेक के लिए https://factcheck.pib.gov.in/ अथवा व्हाट्सऐप नंबर +918799711259 या ईमेलः pibfactcheck@gmail.com पर भेज सकते हैं। यह जानकारी पीआईबी की वेबसाइट https://pib.gov.in पर भी उपलब्ध है।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending