पानी की कमी से जूझ रहे किसानो के लिए सरकार ने शुरू की नई स्कीम , किसानों को मिलेंगे 90,000 रुपए, ऐसे करें आवेदन

पानी की कमी की समस्या से उबारने के लिए राजस्थान सरकार ने किसान फार्म पोंड स्कीम चलाई है। इसके तहत पात्र किसानों को सरकार की तरफ से 90,000 रुपये तक की मदद की जाएगी। इस पैसे से किसानों को अपने खेतों में ही बारिश के पानी को एकत्र करने के लिए पॉन्ड (तालाब) बनवाना होगा। जिससे किसानो को खेत में सिंचाई (Irrigation) करने के लिए पानी का संकट (water crisis) नहीं रहेगा।

बता दें इस योजना में केवल वही किसान पात्र है जो कम से कम 7 साल से लीज एग्रीमेंट के तहत उस जमीन पर खेती कर रहें हैं। या फिर किसान के नाम पर न्यूनतम कृषि योग्य जोत भूमि 0.3 हैक्टेयर होना जरूरी है। राजस्थान सरकार सभी श्रेणी के किसानो को लागत का 60 प्रतिशत अथवा अधिकतम राशि रुपये 63000 रुपये कच्‍चे फार्म पॉन्ड पर तथा 90,000 रुपये प्‍लास्टिक लाइनिंग कार्य पर सहायता राशि प्रदान करेगी।

योजना के तहत दो तरह से सहयोग मिलता है। एक तो कच्चा तालाब, जहां पर लगभग 1200 घनमीटर तक पानी एकत्रित किया जा सके। दूसरा ऐसा तालाब किसान तैयार करे जिसमें बारिश से आए पानी को उपयोग के लिए लंबे समय तक सहेजा जा सके. यानी जो किसान इस योजना का सहारा लेगा उसे खेत में सिंचाई (Irrigation) करने के लिए पानी का संकट (water crisis) नहीं रहेगा।

जरूरी दस्तावेज
>> इसके लिए आधार कार्ड (Aadhaar Card), भामाशाह कार्ड, भूमि पहचान पत्र (खाता खेसरा) तथा बैंक अकाउंट नंबर जरूरी है।
>> जमाबंदी की नकल (छह महीने से अधिक पुरानी न हो)।
>> एक सादे पेपर पर शपथ पत्र देना होगा कि आवेदक किसान के पास कितनी सिंचित एवं असिंचित जमीन है।
>> संयुक्त खातेदार की स्थिति में सह खातेदार आपसी सहमति के आधार पर प्रति कृषक हिस्सा एक हैक्टेयर से अधिक होने पर ही एक ही खसरे में अलग-अलग फार्म पॉन्ड बनाने पर अनुदान के हकदार होगे।

आवेदन प्रक्रिया
– किसान अपने नजदीकी नागरिक सेवा केंद्र या ई-मित्र केंद्र पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।
– हस्ताक्षरयुक्त मूल आवेदन को भरकर, दस्तावेज के साथ कियोस्क पर जमा करिए।
– आवेदक मूल आवेदन पत्र को ऑन-लाईन ई-प्रपत्र (e-Form) में भरेगा।
– आवश्यक दस्तावेज को स्केन कर अपलोड (Scan & Upload) करवाएगा।
– किसान खुद भी आवेदन कर सकता है।
– आवेदक मूल आवेदन पत्र को ऑन-लाईन ई-प्रपत्र में भरकर दस्तावेजों के साथ अपलोड कर दें।
– आवेदन पत्र ऑनलाइन जमा किए जाने की रसीद ऑन-लाईन ही मिलेगी।
– आवेदक मूल दस्तावेजों को स्वयं अथवा डाक के माध्यम से संबंधित कृषि विभाग के कार्यालय में भेजेगा।
– इसकी प्राप्ति रसीद विभाग कार्यालय से दी जाएगी।

अगर आप भी एक किसान है और इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो इसका लाभ लेने के लिए जिला स्‍तरीय संबंधित कृषि कार्यालय पर संपर्क करें। इसके साथ ही ग्राम पंचायत स्तर पर कृषि पर्यवेक्षक से भी बात की जा सकती है। आप चाहें तो पंचायत समिति स्तर पर सहायक कृषि अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं। साथ ही जिला स्तर पर उप निदेशक कृषि (विस्तार) या उपनिदेशक- उद्यान से भी बात कर सकते हैं।

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending