भारत सरकार ने काबुल में भारतीय दूतावास बंद करने का लिया फैसला, सभी कर्मचारियों को बुलाया वापस, आज लोटेंगे दिल्ली

तालिबान ने अफगानिस्तान पर पूरी तरह अपना कब्जा जमा लिया है। इस बीच मंगलवार को भारत सरकार ने घोषणा करते हुए अपने सभी कर्मचारियों को वापस लाने का फैसला किया है। भारत ने मंगलवार को घोषणा की है कि काबुल में दूतावास में अपने राजदूत और कर्मचारियों को स्वदेश वापस लाया जायेगा। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर लिखा, “मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए यह फैसला किया गया है कि काबुल में हमारे राजदूत और सभी भारतीय कर्मचारी तुरंत भारत आएंगे।” बता दें सी-17 ग्लोबमास्टर विमान अफगानिस्तान की राजधानी काबुल से 120 से अधिक यात्रियों को लेकर दिल्ली की उड़ान भरी है। इससे पहले सोमवार को भी राजनयिकों और सुरक्षा कर्मियों सहित करीब 40 लोग को दिल्ली पहुंचे। 

वहीं, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार को ट्विटर पर घोषणा की कि उसने “अफगानिस्तान में मौजूदा स्थिति के मद्देनजर वीजा प्रावधानों की समीक्षा की है और इलेक्ट्रॉनिक वीजा की एक नई श्रेणी पेश की है जिसे “ई-आपातकालीन एक्स-विविध वीजा” कहा जाता है।” यह भारत में प्रवेश के लिए फास्ट ट्रैक वीजा आवेदन है।

जयशंकर ने यह भी ट्वीट किया कि भारतीय पक्ष काबुल में सिख और हिंदू समुदाय के नेताओं के साथ लगातार संपर्क में है। मंत्री ने ट्वीट किया कि वह लगातार काबुल में स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। भारत लौटने की चाह रखने वालों की चिंता को समझ रहे हैं। एयरपोर्ट संचालन सबसे बड़ी चुनौती है। इस संबंध में भागीदारों के साथ चर्चा की जा रही है। 

More articles

- Advertisement -
Web Portal Ad300x250 01

ताज़ा ख़बरें

Trending